बीजेपी से डरे कांग्रेस-NCP-शिवसेना के दिग्गज

0

महाराष्ट्र (Maharashtra ) की राजनीति का फैसला सुप्रीम कोर्ट में होने वाला है, लेकिन उससे पहले ही शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी (Shiv Sena-Congress and NCP scared of BJP ) के नेताओं में डर का माहौल बन गया है। सभी नेता बीजेपी की कार्रवाई से डर रहे हैं। शिवसेना का कहना है कि बीजेपी ने ऑपरेशन कमल (BJP Operation Lotus in Maharashtra ) शुरू कर दिया। वे एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना के विधायकों को लालच देकर अपने पाले में लाने के प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Chief Minister Devendra Fadnavis ) के सामने अब विधानसभा में फ्लोर टेस्ट पास करना बड़ी चुनौती है।

बीजेपी को बहुमत मिलना मतलब भैंसे से दूध दुहना

BJP ने दिखाया जांच एजेंसी का डर

शिवसेना का कहना है कि बीजेपी जांच एजेंसियो के नाम पर भी डर दिखा रही है। उसके पास पर्याप्त संख्या बल नहीं होने के कारण ऐसा किया जा रहा है। ऑपरेशन कमल (BJP Operation Lotus in Maharashtra) से बचने के लिए एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं को ज़िम्मेदारी दी गई है। बीजेपी ने नारायण राणे, राधाकृष्ण विखे पाटिल, गणेश नाइक और बबनराव पचपुते को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के लिए बहुमत जुटाने की जिम्मेदारी दी है। कहा जा रहा है कि ये नेता ही अन्य पार्टी के विधायकों  के सामने पहले लालच रख रहे हैं और फिर उन्हें एजेंसियों के नाम पर डरा रहे हैं ।

आवासीय इलाके में प्लेन क्रैश, 26 लोगों की मौत

विधायकों की खरीद-फरोख्त के डर से शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने अपने-अपने विधायकों  को होटलों में रखा है, लेकिन वहाँ भी उन्हें भय सता रहा है। होटल रेनेसां में सादे कपड़ों में एक पुलिसकर्मी के पकड़े जाने के बाद एनसीपी ने अपने विधायकों को हयात होटल भेज दिया। वहीं शिवसेना और कांग्रेस ने भी विधायकों को दूसरे होटल भेज दिया है। इसके बाद पार्टी के बड़े नेता सभी विधायकों पर नजर बनाएँ हुए हैं। शिवसेना (Shiv Sena) का कहना है कि महाराष्ट्र में बीजेपी कि नहीं एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना की सरकार बनेगी, क्योंकि हमारे पास पर्याप्त संख्या बल है।

Maharashtra Government Live Updates : महाराष्ट्र मामले पर सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई शुरू

   – Ranjita Pathare 

Share.