महाराज भारी तनाव में थे

0

संत भय्यू महाराज सुसाइड केस में पुलिस को नई जानकारियां मिली हैं। भय्यू महाराज खुद को गोली मारने के सात दिन पहले से भारी तनाव में थे। तनाव केवल पत्नी और बेटी कुहू का नहीं बल्कि दूसरे लोगों का भी था | पुलिस के अनुसार, उन्हें लगातार धमकियां मिलती थी, उनकी दूसरी शादी के बाद ट्रस्टी पद छोड़ रहे थे, दानदाता लगातार कम हो रहे थे। वे बेटी और पत्नी के बीच चल रहे मनमुटाव से परेशान थे| परिवार के लोग हर काम में ऐतराज़ जता रहे थे | महाराज को अपनी छवि खराब होने का डर सबसे अधिक सताता था। ये सभी बातें पुलिस को सात घंटे तक चले अलग-अलग लोगों के बयानों के बाद पता चल सकी |

पुलिस ने लिए बेटी और सेवादार के बयान

संत भय्यू महाराज  की बेटी कुहू ने कहा कि मैं अपनी पहली मां (माधवी) को ही मां मानती हूं, डॉ. आयुषी को नहीं। इसी तरह सेवादार विनायक ने बताया कि  महाराज को कुछ ट्रस्टियों के छोड़े जाने और मकान के कर्ज को लेकर भी तनाव था| इसके अलावा भी पुलिस को अनेक जानकारियां मिली हैं,जिनका खुलासा वह जांच रिपोर्ट में करेगी | हालांकि पुलिस अभी कुछ और लोगों के भी बयान लेगी जिसके बाद एक नतीजे पर पहुंचा जा सकेगा |

भय्यू महाराज की स्थिति नाजुक थी| कई बार वे सेवादार विनायक से दूर अकेले में फोन पर बात करते थे। एक व्यवसायी का फोन आने पर वह असहज हो जाते थे। पिछले दिनों जिन नंबरों पर उन्होंने सबसे ज्यादा बातें की, उनमें बेटी, पत्नी, विनायक, पड़ोसी मनमीत अरोरा और पुणे के सेवादार अनमोल चव्हाण थे | उनका दूसरी शादी के बाद से लगातार वर्चस्व कम हो रहा था |

Share.