website counter widget

देश की पहली ‘प्राइवेट ट्रेन’ पर राजनीतिक हंगामा, जानिए खासियत

0

मोदी सरकार ने हाल ही में कई बड़े फैसले लिए, जिनका अभी भी विपक्ष विरोध कर रहा है, लेकिन अब सरकार कुछ ऐसा करने जा रही है, जिसका शायद पूरा देश विरोध कर सकता है! भाजपा सरकार अब सरकारी ट्रेन को बेच रही है। इस खबर के बाहर आते ही हंगामा मच गया है। कई लोग सरकार के कार्यों पर सवाल खड़े कर रहे हैं। जनता और विपक्ष रेलवे के निजीकरण वाले फैसले से खुश नहीं है। ये हंगामा दिल्ली और लखनऊ के बीच चलने वाली देश की पहली प्राइवेट ट्रेन (India First Private Train) तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express Private Train) पर किया जा रहा है।

चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद नेताओं के भड़काऊ बयान

अहमदाबाद-मुंबई सेंट्रल तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express Private Train) और दिल्ली-लखनऊ तेजस एक्सप्रेस को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर IRCTC को सौंपा जाएगा, जिसका राजनीतिक पार्टियां विरोध कर रही है। कहा जा रहा है ऐसा करके मोदी सरकार देश को बेचने का काम कर रही है। इन ट्रेनों का किराया मांग आधारित होगा और इसे आईआरसीटीसी तय करेगा। जिस सफर को तय करने के लिए शताब्दी एक्सप्रेस को 6:40 घंटे का समय लगता है।

उसे यह ट्रेन 6:15 घंटे में पूरा कर लेगी। विपक्ष का कहना है कि यह ट्रेन लोगों का समय बचाएंगी और इसके लिए प्राइवेट सेक्टर में यात्रियों से मनचाहा किराया वसूला जाएगा, इसीलिए इसकी डोर सरकार के हाथों में ही रहनी चाहिए। IRCTC पहले से ही भारत दर्शन, बुद्धा सर्किट स्पेशल, श्री रामायण एक्सप्रेस जैसी कई टूरिस्ट और स्पेशल ट्रेनों का संचालन करती है लेकिन पहली बार उसे एक यात्री गाड़ी दी गई है।

CBI ने चिदम्बरम पर दागे ये सवाल, फंस गए बेटे कार्ति भी

जानिए देश कि पहली प्राइवेट ट्रेन (Tejas Express Private Train) खासियत, जिसके नाम पर मचा है बवाल –

# यह ट्रेन बहुत ही कम समय में लंबी दूरी तय करेगी।

# यह नई दिल्ली से शाम 4:30 बजे चलकर रात 10:45 बजे लखनऊ जंक्शन पहुंचेगी।

# दूसरी ट्रेन सुबह 6:40 बजे अहमदाबाद से चलकर दोपहर 1:10 बजे मुंबई सेंट्रल पहुंचेगी।

# मुंबई सेंट्रल से दोपहर 3:40 बजे चलकर रात 9:55 बजे अहमदाबाद आएगी।

# आईआरसीटीसी को सौंपी गई ट्रेनों में टिकट जांच का कार्य रेलवे स्टाफ द्वारा नहीं किया जाएगा।

मध्यप्रदेश में पाकिस्तानी ISI के इशारों पर धमाके की तैयारी!

# आईआरसीटीसी को सौंपी जा रही दो तेजस ट्रेन शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों जैसी ही होंगी।

# हवाई जहाज के जैसे ही तेजस एक्सप्रेस की हर सीट पर LCD स्क्रीन लगी है। प्रत्येक सीट पर अटेंडेंट बटन लगा है जिससे दबा कर आप अपनी सहायता के लिए अटेंडेंट को बुला सकते हैं।

# ट्रेन में सुबह तीन सितारा होटल का नाश्ता दिया जाएगा।

# वहीं इसमे  शाम की चाय व डिनर की होगी सुविधा भी होगी।

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.