website counter widget

गंभीर घायल हुए शशि थरूर

0

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और तिरुवनंतपुरम से उम्मीदवार शशि थरूर ( Shashi Tharoor) बड़े हादसे का शिकार (Shashi Tharoor Injured In Thiruvananthapuram Temple ) हो गए। मंदिर में पूजा के दौरान हुए हादसे के बाद उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। तुरंत का उपचार किया गया। जानकारी के अनुसार, थरूर सोमवार को थम्प नूर के गांधारी अम्मन कोविल में पूजा करने गए थे। वहां से सीढ़ियों से जा रहे थे तभी उनका संतुलन बिगड़ा और वे गिर गए। हादसे के कारन उन्हें सिर और पैरों में गंभीर चोट आई है। घायल अवस्था में उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया। इसके बाद उन्हें तिरुवनंतपुरम के सुपर-स्पेशियलिटी अस्पताल में पहुंचाया गया। थरूर को 8 टांके लगे हैं। डॉक्टरों का कहना है कि उनकी हालत स्थिर है और वह खतरे के बाहर है।

video : पीएम ने  करवाया पुलवामा हमला!

मंदिर में पूजा के दौरान बिगड़ा थरूर का बैलेंस, सिर और पैर में लगी चोट

चुनाव प्रचार के दौरान घायल (Shashi Tharoor Injured In Thiruvananthapuram Temple )

शशि थरूर चुनाव प्रचार के लिए पहले भी मंदिर गए थे। इसके पहले उन्होंने ही ट्वीट करके जानकारी दी थी। तब उन्होंने वहां तुलाभार भी किया था। उन्होंने ट्वीट में लिखा था, “मैंने कल कझक्कोट्टम से अपने पर्यदनम की शुरुआत एक विशिष्ट तरीक़े से – केले के तुलाभरम से की! कम से कम मंदिर में तो मैं यह दावा ज़रूर कर सकता हूँ कि मैं एक ‘भारी नेता’ हूँ। “तुलभारम एक खास पूजा होती है जिसमें अपने वजन के बराबर चढ़ावा चढ़ाया जाता है। वजन नापने के लिए दिरों में मशीने लगी होती हैं।

आज़म पर मुकदमा दर्ज, कहा – नहीं लडूंगा चुनाव!

Image result for SHASHI THAROOR

तिरुवनंतपुरम सीट से दो बार कांग्रेस के सांसद चुने गए थरूर का मुकाबला बीजेपी नेता और मिजोरम के पूर्व राज्यपाल कुम्मानेम राजशेखरन और सीपीआई विधायक और राज्य के पूर्व मंत्री सी. दिवाकरन से है। थरूर इस सीट से पहली बार 2009 में चुनाव लड़े थे. उस बार उन्हें एक लाख से तीन मत कम मिले थे, लेकिन 2014 में वह लगभग 15,000 मतों के अंतर से जीते। बाद में उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।

Image result for SHASHI THAROOR
थरूर इस सीट से पहली बार 2009 में चुनाव लड़े थे।  उस बार उन्हें एक लाख से तीन मत कम मिले थे, लेकिन 2014 में वह लगभग 15,000 मतों के अंतर से जीते थे। इसके बाद उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।  इस बार सबरीमला मंदिर विवाद में कूदने के कारण नायर समुदाय का उनका परंपरागत वोट बैंक भी घटा है।  इसे देखते हुए शशि थरूर ने पार्टी हाईकमान को पत्र लिखकर शिकायत की है कि स्थानीय पार्टी नेता उनके प्रचार अभियान में रुचि नहीं ले रहे हैं।

यहां चुनाव पर चर्चा करने पर मिलती है सजा

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.