Unnao Gangrape Case : मरने तक जेल में रहेगा सेंगर

0

भारतीय जनता पार्टी(BJP) के निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर (Kuldeep Sengar) को उन्नाव दुष्कर्म मामले (Unnao Rape) में उम्रक़ैद(Life Term Imprisonment) की सज़ा सुनाई गई है।  सजा पर बहस के दौरान सीबीआई ने कोर्ट से अधिकतम सजा की मांग की थी। 16 दिसंबर को दिल्ली (Delhi) की तीस हजारी अदालत ने सेंगर को धारा 376 और पॉक्सो के सेक्शन 6 के तहत दोषी ठहराया था। जबकि 17 दिसंबर को सजा पर बहस की गई थी। इसके बाद कोर्ट ने अगली सुनवाई से पहले कुलदीप सिंह सेंगर (Unnao Rape) को अपनी आय और संपत्ति का पूरा ब्योरा देने का आदेश दिया था।

कोर्ट में सेंगर के वकील की दलील

कुलदीप सिंह सेंगर ने वकील ने अदालत से कहा कि सजा पर कोर्ट में बहस के दौरान कुलदीप सेंगर की ओर से वकील ने कहा कि उनकी (विधायक) दो बेटी हैं और पत्नी है, उनपर परिवार की जिम्मेदारी है। ऊपर लोन भी है। बेटी की पढ़ाई के लिए लोन लिया था। वहीं पीड़िता के परिवार ने सेंगर को उम्रकैद की सजा सुनाए जाने पर संतोष जाहिर किया है। इसके पहले न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने सीबीआई, शिकायतकर्ता और दोषी की दलीलों पर संक्षिप्त सुनवाई के बाद कार्यवाही शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दी, जिस पर आज फैसला सुनाया गया है।

सुनवाई के दौरान तीस हजारी कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि कुलदीप सिंह सेंगर को जुर्माने की 25 लाख रुपए की रकम एक महीने के भीतर जमा करनी होगी। इनमें से 10 लाख रुपए का मुआवजा पीड़िता को दिया जाएगा।  अगर सेंगर यह राशि जमा नहीं करता है तो उसकी संपत्ति जब्त कर जुर्माना वसूला जाएगा। पीड़िता और उसका परिवार एक साल तक दिल्ली महिला आयोग द्वारा दिलाए गए किराए के घर में रह सकेंगे।  यूपी सरकार मकान मालिक को 15 हजार रुपए हर महीने बतौर किराया देगी। सीबीआई पीड़िता और उसके घरवालों की सुरक्षा के लिए व्यवस्था करेगी और हर तीन महीने में उनके जीवन पर खतरे का आंकलन करेगी।

Debit-Credit कार्ड्स हो जायेंगे बंद अगर 31 दिसंबर से पहले नहीं किया ये काम तो

कमलनाथ सरकार में मप्र में क्यों बढ़ी बेरोजगारी

देश के लिए जनता का गुस्सा सिर-आंखों पर : मोदी

    – Ranjita Pathare 

Share.