Kulbhushan Jadhav : पाकिस्तान की कैद से कुलभूषण जाधव होंगे आज़ाद…

0

कुलभूषण जाधव केस मामले में आज ICJ में फैसला सुनाया जा रहा है। इस मामले में ICJ के 16 जज फैसला सुना रहे हैं। जानकारों की माने तो यह भारत की बड़ी जीत है (Kulbhushan Jadhav)। आज सुनाए जाने वाले फैसले में कुलभूषण को आजादी मिल सकती है। नीदरलैंड के हेग में स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत (ICJ) आज पाकिस्तान में बंद भारत के कुलभूषण जाधव मामले में भारत को बड़ी जीत मिली है। आईसीजे ने कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगा दी है।

Sonbhadra Land Dispute : सोनभद्र में जमीन विवाद में कई लोगों को गोलियों से भूना

आईसीजे की कानूनी सलाहकार रीमा ओमेर ने ट्वीट किया है कि जाधव को काउंसलर एक्सेस मिलेगा। कोर्ट ने फैसले पर पुनर्विचार के लिए कहा है।

आईसीजे में पाकिस्तान को एक बड़ा झटका लगा है। अंतरराष्ट्रीय अदालत में जाधव की फांसी पर रोक लगा दी गई (Kulbhushan Jadhav)। इसे भारत की बड़ी जीत बताया जा रहा है। अंतरराष्टीय न्याय दिवस के दिन पाकिस्तान में बंद कुलभूषण जाधव को अंतरराष्टीय अदालत में न्याय आखिर मिल ही गया। ICJ में 15-1 से भारत के पक्ष में फैसला सुनाया जा रहा है। गौरतलब है कि 8 मई 2017 को अंतरराष्ट्रीय अदालत में कुलभूषण जाधव का केस दाखिल किया गया था। जाधव पर फैसला पढ़ते हुए अन्तरराष्ट्रीय अदालत ने पाकिस्तान को अपने फैसले पर पुनर्विचार करने का आदेश दिया है।

अब लड़कियां नहीं कर सकती मोबाइल फोन का इस्तेमाल! देना होगा जुर्माना

ICJ के फैसले का सुषमा स्वराज ने दिल से स्वागत करते हुए ट्वीट किया और लिखा, “मैं कुलभूषण जाधव के मामले में अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के फैसले का तहे दिल से स्वागत करती हूं। यह भारत के लिए बहुत बड़ी जीत है।”

मुंबई में जाधव के साथियों ने अंतरराष्ट्रीय अदालत के फैसले का दिल से स्वागत किया। जैसे ही ICJ ने जाधव की फांसी पर रोक लगाई तो जाधव के साथियों ने मुंबई में जश्न मानना शुरू कर दिया। उन्होंने इसे भारत की सबसे बड़ी जीत बताया और पाकिस्तान की करारी हार करार दिया (Kulbhushan Jadhav)।

भारत ने आईसीजे के फैसले का स्वागत किया। वहीं जैसे ही इंटरनेशनल अदालत में भारत के पक्ष में फैसला सुनाया गया तो हेग में भारत के पक्ष में जमकर नारे लगाए गए। अदालत के बाहर लोगों ने ‘जब तक सूरज-चांद’ जैसे नारे लगाए। जाधव को अंतरराष्टीय अदालत ने काउंसलर एक्सेस दिए जाने का भी आदेश दिया है। इंटरनेशनल कोर्ट में भारत के पक्ष में फैसला आने से पूरे देश में जश्न का माहौल बन गया है। पूरे देश में ख़ुशी की लहर दौड़ गई है और लोग भारत माता की जय के नारे लगा रहे हैं।

रेरा का आईडीए पर शिकंजा, 60 लाख रुपए की पेनल्टी

Share.