website counter widget

बच्चों के कटे सिर मिलने वाला मामला नरबलि का नहीं

0

झारखंड (Jharkhand) के लातेहार जिले (Latehar) के मनिका थाना क्षेत्र स्थित सेमरहत गांव में दो बच्चों के कटे सिर मिलने वाले मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। दो नाबालिग बच्चों की निर्मम हत्या को पहले यह कहा जा रहा था कि ये नरबलि का मामला है, लेकिन अब कहा जा रहा है कि ये नरबलि नहीं थी। घटना के बाद आरोपी की गिरफ्तारी भी हो गई है, उससे लगातार पूछताछ की जा रही है।

संसद के पास ऑडी सवार का स्टंट, सुरक्षा पर सवाल

गुरुवार की सुबह गांव में सुनील उरांव के घर के पास स्थित बालू के ढेर में किसी बच्चे कापैर दिखा। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब बालू का ढेर हटाया तो उसमें गांव के दो बच्चे वीरेंद्र उरांव के बेटे निर्मल उरांव (8 वर्ष) एवं बिहारी उरांव की बेटी शीला कुमारी (6 वर्ष) का सिर कटा शव मिला था। इस मामले में पुलिस ने बताया कि मृतक शीला, सुनील उरांव नाम के शख्स के घर गई थी और आरोपी सुनील उरांव उसके साथ गलत हरकत करने का प्रयास कर रहा था। इसी बीच दूसरा बच्चा निर्मल भी वहां पहुंच गया। निर्मल ने सुनील को शीला के साथ गलत हरकत करते देख लिया।

‘तमंचे पर डिस्को’ वाले विधायक का लड़की के साथ VIDEO

जब निर्मल ने सुनील को देखा था उसने दोनों बच्चों को पकड़ लिया। इसके बाद बुधवार की रात में ही तेजधार हथियार से दोनों की गला रेतकर हत्या कर दी। इसके बाद शवों को घर के पीछे रखे बालू के ढेर में गाड़ दिया। जांच में यह भी सामने आया है कि सुनील के मानसिक रोगी है। उसका इलाज भी चल रहा है। पुलिस ने निर्मल का कटा सिर बरामद कर लिया है और अभी शीला के कटे सिर की तलाश की जा रही है। सुनील की आपराधिक पृष्टभूमि रही है. इससे पहले वह अपने बहनोई डुडुआ भगत एवं गांव के ही एक शख्स की हत्या कर चुका है।

“ऐसा करने से देशभक्ति की भावना हुई मजबूत”

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.