चुनाव लड़ने के लिए पैसे मांग रहे हैं केजरीवाल

0

दिल्ली में विधानसभा चुनाव (Assembly elections in Delhi  2019) होने वाले हैं, सभी पार्टियां चुनाव के लिए अभी भी तैयारी कर रही है। प्रचार-प्रसार कर रही है, लेकिन ‘आम आदमी पार्टी’ (Aam Aadmi Party’ ) जनता से पैसे मांग रही है। दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी के पास चुनाव लड़ने के लिए भी पैसे नहीं बचें। यानि जनता आम आदमी पार्टी को चंदा नहीं दे रही इसीलिए अब आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जनता से पैसे मांगने पर मजबूर हो गए हैं।

कांग्रेस ने वोट बैंक के लिए लटकाए रखा था राम मंदिर: पीएम मोदी

चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal ) खुद कह चुके हैं कि उनके पास पैसे नहीं है। उन्होने जनसभा में लोगों से अपील की थी कि पार्टी को आपके चंदे की जरूरत है। हमने पिछले 5 साल में दिल्ली में बहुत काम किया। अब हमारे पास अगला चुनाव लड़ने के लिए पैसा नहीं है। मैंने 5 साल में एक रुपया नहीं कमाया। अब यह आपके ऊपर है कि चुनाव लड़ने में हमारी मदद करें। इसके बाद केजरीवाल ने कच्ची कॉलोनियों को नियमित करने के बारे में कहा कि कच्ची कॉलोनियों को नियमित कराकर ही दम लूंगा। रजिस्ट्री होने तक किसी भी राजनीतिक पार्टियों पर भरोसा करने की जरूरत नहीं है। क्योंकि, वे पहले भी धोखा दे चुकी हैं।

क्यों सिंधिया ने कांग्रेस हटाकर लिखा जन सेवक?

यह बातें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संत नगर, बुराड़ी में 250 किलोमीटर सीवर लाइन योजना के शिलान्यास कार्यक्रम में केजरीवाल ने कहा कि पांच साल पहले मैंने कसम खाई थी कि कच्ची कॉलोनियों को नियमित करूंगा। केजरीवाल से पहले केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा था कि दिल्ली की अनाधिकृत कॉलोनियों में रहने वाले लोग 16 दिसंबर से मालिकाना हक के लिए आवेदन दे सकेंगे। उन्हें 180 दिनों के भीतर इसका प्रमाण पत्र दे दिया जाएगा। इस पर केजरीवाल ने लोगों से कहा कि जब तक आपके हाथ में रजिस्ट्र की कॉपी न आ जाए, किसी (केंद्र सरकार) पर भरोसा मत करना। मैं आपको रजिस्ट्री दिलाने के लिए हर कोशिश करूंगा।

अजित पवार को ढाई साल का CM बनाएगी BJP

    – Ranjita Pathare 

Share.