website counter widget

पुलिस की हिरासत में कर्नाटक के मंत्री

0

कर्नाटक (Karnataka) की राजनीति में भूचाल आया हुआ है। राज्य में जारी सियासी ड्रामा महाराष्ट्र (Maharashtra) तक पहुँच गया। बुधवार को कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार (D. K. Shivakumar) और मिलिंद देवड़ा (Milind Murli Deora) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, जिसके बाद फिर नया बवाल शुरू हो गया। मुंबई (Mumbai) के रेनेसां होटल में ठहरे कांग्रेस-जेडीएस के 10 बागी विधायकों से मिलने पहुंचे थे, लेकिन उन्हें मिलने नहीं दिया गया।

अमेठी मेरा घर-परिवार है, मैं नहीं छोडूंगा : राहुल गांधी

जानकारी के अनुसार, बागी विधायकों के इनकार के बावजूद मंत्री और वरिष्‍ठ कांग्रेसी नेता डीके शिवकुमार ((Milind Murli Deora) ) उनसे मिलने पहुँच गए। उन्‍होंने होटल के बाहर धरना भी दिया था। इस बीच शांति भंग की आशंका के मद्देनजर यहां के पवई थाना क्षेत्र में धारा 144 लगाए जाने के बाद मुंबई पुलिस ने उनको हिरासत में ले लिया।

इस्तीफा स्वीकार नहीं किए जाने के बाद बुधवार को बागी विधायकों ने विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की। विधायकों ने स्पीकर पर आरोप लगाया कि रमेश कुमार अपने संवैधानिक कर्तव्यों का पालन नहीं कर रहे हैं। वह जानबूझकर इस्तीफे की स्वीकृति में देरी लगा रहे हैं। इस मामले की गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो सकती है। कर्नाटक के बागी विधायक पहले ही कह चुके हैं कि उन्होंने पार्टी छोड़ी है, जिससे उनकी जान को खतरा है।

VIDEO : हाथ में जाम और पिस्टल लेकर ठुमके लगाता BJP का विधायक

बागी विधायकों ने पहले ही मुंबई पुलिस से आग्रह किया था कि उनकी जान को खतरा है इसलिए उनकी सुरक्षा बढ़ाई जाए। लिहाजा पुलिस ने सुरक्षा बढ़ा दी। उन्‍होंने शिवकुमार से मिलने से इनकार भी कर दिया।  इसलिए शिवकुमार को होटल के भीतर नहीं जाने दिया गया। गिरफारि के पहले शिवकुमार ने कहा था कि मैं अपने दोस्‍तों से मिले बगैर नहीं जाऊंगा। वे मुझे बुलाएंगे, उनका दिल टूट जाएगा, मैं उनके संपर्क में हूं। इस बीच रेनेसां होटल ने शिवकुमार के कमरे की बुकिंग कैंसिल कर दी। इस पर शिवकुमार ने कहा कि होटल को मेरे जैसे कस्‍टमर पर गर्व होना चाहिए। मैं मुंबई से प्रेम करता हूं। उनको बुकिंग कैंसिल करने दीजिए, मेरे पास अन्‍य कमरे हैं।

MP Budget LIVE : 2 लाख 33 हज़ार करोड़ का कुल बजट पेश

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.