असम के बाद कर्नाटक में भी लागू होगा NRC!

0

असम (Assam ) में एनआरसी (NRC ) लागू होने के बाद अब देश के कई राज्यों में भी इसे लागु करने की मांग की जा रही है। वहीं इसका विरोध भी बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। अब कहा जा रहा है कि कर्नाटक में एनआरसी लागू की (Karnataka Government Collecting NRC Info) जाएगी। राज्य के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने इसे लेकर बयान बयान दिया है। उनके बयान के बाद राजनीतिक जगत में हलचल तेज हो गई है।

खुले में शौच करने पर फिर एक मासूम की पीटकर हत्या

गृह मंत्री बसवराज बोम्मई (Karnataka Home Minister Basavaraj Bommai ) ने कहा कि  देश में NRC के कार्यान्वयन के संबंध में चर्चा चल रही है। हम भी उन्हीं में से एक हैं। सीमा पार के लोग आकर बस गए हैं। हम जानकारी जुटा रहे हैं और केंद्रीय गृह मंत्रालय के साथ चर्चा करेंगे और आगे बढ़ेंगे (Karnataka Government Collecting NRC Info)। NRC को असम में सफ़लतापूर्वक लागू किया जा चुका है। ऐसा ही देश के अन्य राज्यों में भी किया जाना चाहिए।

कन्हैया कुमार को पसंद नहीं आया आदित्य ठाकरे की चुनावी डेब्यू!

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah ) दो दिनों की पश्चिम  बंगाल (West Bengal ) दौरे पर  गये थे। वहां एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि दूसरे देशों के आए हिंदू शरणार्थियों को घबराने की जरुरत नहीं  उन्हें भारत की नागरिकता प्रदान की जाएगी, लेकिन  घुसपैठियों को चुन-चुन कर सभी देश से भाहर निकालेंगे। इसके बाद ही कर्नाटक के मंत्री का बयान सामने आया है।

NRC के बारे में गृहमंत्री ने कहा था कि मैं सभी हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध और ईसाई शरणार्थियों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि उन्हें भारत छोड़ने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा। आप अफवाहों पर ध्यान न दें। ममता दीदी कह रही हैं कि पश्चिम बंगाल में एनआरसी लागू नहीं होगा। लेकिन हम हर घुसपैठिए को चुन कर बाहर करेंगे। जब ममता बनर्जी विपक्ष में थीं, तब वो भी यही चाहती थीं। अब वही घुसपैठिए उनके वोट बैंक बन गए हैं, तो वो उन्हें हटाना नहीं चाहतीं।

पाकिस्तान जाने की तैयारी कर रहे पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

      – Ranjita Pathare

Share.