website counter widget

अयोग्य ठहराए गए 17 MLA पर SC  का बड़ा फैसला

0

Karnataka disqualified MLAs case : कर्नाटक (Karnataka ) के अयोग्य करार दिए जा चुके 17 विधायकों को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी राहत दी। कोर्ट ने विधायकों की अयोग्यता खत्म नहीं की है, लेकिन उन्हें चुनाव लड़ने का अधिकार दे दिया है। जस्टिस एनवी रमना (NV Ramana) , जस्टिस संजीव खन्ना (Sanjiv Khanna), और जस्टिस कृष्ण मुरारी (Krishna Murari),  की पीठ ने विधायकों को राहत भरा फैसला सुनाया (Disqualified Karnataka MLAs’ Case)। फैसला सुनाते हुए कहा गया कि हम विधायकों को अयोग्‍य ठहराने के तत्‍कालीन विधानसभा अध्‍यक्ष के फैसले को बरकरार रखते हैं लेकिन अयोग्‍य विधायक चुनाव लड़ सकते हैं।

एनसीपी-कांग्रेस के साथ पर शिवसेना की सफाई!

17 विधायकों की अयोग्यता पर पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट (Disqualified Karnataka MLAs’ Case) ने सुनवाई की थी और फैसला सुरक्षित रख लिया था। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि विधानसभा स्पीकर ये तय नहीं कर सकते हैं कि विधायक कब चुनाव नहीं लड़ सकते हैं। कभी-कभी स्पीकर एक अथॉरिटी जैसे काम करता है। कोर्ट ने आगे कहा कि संसदीय लोकतंत्र में सरकार और विपक्ष दोनों से नैतिकता की उम्मीद होती है, हम हालात को देखकर केस की सुनवाई करते हैं। याचिकाकर्ता इस मामले में हाईकोर्ट भी जा सकते हैं। वहीं सभी विधायक 5 दिसंबर को 15 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में शामिल हो सकते हैं।

उद्धव ठाकरे ने दिए संकेत, बीजेपी के साथ बनाएंगे सरकार!

क्या था मामला ?

मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) के फ्लोर टेस्‍ट वाले प्रस्ताव पर 29 जुलाई को मतदान से पहले  विधायकों ने धोखा दिया था। कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए मचे घमासान के बीच कांग्रेस (Congress) के 14, जेडीएस के 3 विधायकों ने अपने पदों से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने सभी 17 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया था। इसके बाद सभी विधायकों ने पहले हाईकोर्ट की और फिर सुप्रीम कोर्ट की शरण ली थी। विधायकों के ड्रामे के कारण एचडी कुमारस्वामी की सरकार गिर गई थी और भाजपा सत्ता में वापस लौट आई थी।

हरियाणा मंत्रिमंडल का विस्तार, नए मंत्री लेंगे शपथ!

         – Ranjita Pathare 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.