पीएम से मुलाकात को लेकर कैलाश विजयवर्गीय ने ममता बनर्जी पर साधा निशाना

0

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज 69वा जन्मदिन है। इस दिन वे अपनी माताजी से मिलने पहुंचे और उनका आशीर्वाद भी लिया। देश भर में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उनका जन्मदिन बड़ी धूम-धाम से मनाया। इसी बीच खबर आई कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री मोदी से मिलने का समय मांगा है। समय मिलने के बाद ममता बनर्जी पीएम मोदी से मिलने के लिए राजधानी दिल्ली रवाना हो चुकी हैं। जहां ममता बनर्जी ने दिल्ली को ओर कूच किया वहीं भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ममता पर निशाना साधते हुए कहा कि हर मामले में पीएम के खिलाफ ज़हर उगलने वाली ममता दीदी को आज पीएम की याद कैसे आ गई ये हमे भली-भांति पता है।

ममता पर निशाना साधते हुए कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि “तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने शहर के पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार को बचाने की आखिरी कोशिश के तहत पीएम मोदी से मिलने का समय मांगा है।” इतना ही नहीं भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने यह भी दावा किया कि, “ममता दीदी इस बात से भली-भांति परिचित हैं कि कुमार की गिरफ्तारी के बाद करोड़ों रुपए के शारदा चिटफंड घोटाले के सिलसिले में उनकी (ममता की) आधी कैबिनेट जेल चली जाएगी।” राज्य सचिवालय की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रधानमंत्री मोदी से मुलाक़ात करेंगी।

कैलाश ने उनकी पीएम मोदी से मुलाक़ात को लेकर कहा कि, इस मुलाक़ात के पहले तक ममता दीदी पीएम मोदी के लिए हर मुद्दे पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करती थी, उन पर अभद्र टिप्पणी करती थीं। इसके अलावा विजयवर्गीय ने कहा कि उन्हें यह जरा भी नहीं लगता कि पीएम के तौर पर मोदी जी का सम्मान करना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि ममता दीदी तो मोदी जी के शपथ ग्रहण समारोह, नीति आयोग की बैठक और तो और मुख्यमंत्रियों की बैठक में तक शामिल नहीं हुई थी फिर अचानक वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलना क्यों चाह रही हैं? क्या इस बात का कोई अनुमान लगा सकता है? इसके आगे उन्होंने कहा कि ममता दीदी की जो मंशा है, और वे कुमार तथा पार्टी के अन्य नेताओं को बचाने की जो नाकाम कोशिश कर रही हैं वह कभी सफल नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि ममता दीदी को यह बात बेहद अच्छे से पता है कि कुमार के गिरफ्तार होते ही उनकी (ममता की) आधी केबिनेट को सलाखों के पीछे जाना पड़ेगा। कैलाश विजयवर्गीय द्वारा किए गए इस दावे को तृणमूल कांग्रेस ने बेबुनियाद करार दिया है। तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि विकास के मुद्दों पर चर्चा करने के लिए ममता बनर्जी पीएम से कभी भी मिल सकती हैं और ये उनका अधिकार है। तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि किसी भी राज्य के मुख्यमंत्री के पास यह अधिकार होता है कि वह प्रधानमंत्री से राज्य के विकास के मुद्दों पर चर्चा करने के लिए मिले। उन्होंने कहा कि इस मुलाक़ात का भी वही उद्देश्य है।

Prabhat Jain

Share.