सिर्फ एक तस्वीर से मचा बवाल

0

आसाराम को आज जोधपुर कोर्ट ने नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सज़ा सुनाई है| 31 अगस्त 2013 की रात आसाराम की गिरफ्तारी हुई थी| उसे पकड़ने के लिए दो राज्यों की पुलिस मध्यप्रदेश के इंदौर शहर पहुंची थी| ढोंगी बाबा की गिरफ्तारी के बाद उसकी एक विवादित तस्वीर के कारण भी खूब बवाल मचा था|

दरअसल, जब आसाराम को मामले में जेल हुई थी, तब एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी, जिसमें बाबा एक महिला के साथ नजर आ रहा था| हालांकि जब इस फोटो की सच्चाई सामने आई तो सब हैरान हो गए|

तस्वीर में दिख रहा व्यक्ति बिलकुल आसाराम जैसा ही दिखता था, जिसका नाम विराटो है| विराटो न्यूयॉर्क के एक धर्मगुरु, रेडियो जॉकी और मोटिवेटर थे| 2013 में उनकी 74 साल की उम्र में मौत हो गई थी| तस्वीर में विराटो अपनी पत्नी के साथ नजर आ रहा था| कहा जाता है कि वह तस्वीर उनकी अंतिम तस्वीर थी|

गौरतलब है कि अब आसाराम को उम्रभर जेल में ही रहना होगा, वर्ष 2013 में शाहजहांपुर की 16 वर्ष की एक लड़की ने आसाराम पर जोधपुर आश्रम में दुष्कर्म का आरोप लगाया था| इसके बाद से ही वह जेल में बंद था| कुल 12 बार आसाराम की जमानत अर्जी ट्रायल कोर्ट, राजस्थान हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट द्वारा खारिज की जा चुकी है| मामले की धीमी सुनवाई के लिए पिछले साल अगस्त में सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को फटकार भी लगाई थी|

जब आसाराम जोधपुर जेल में बंद था, उसके बाद गुजरात के सूरत की दो बहनों ने आसाराम और उसके बेटे नारायण साईं पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था| बड़ी बहन ने बताया था कि आसाराम ने 2001 से 2006 के बीच कई बार उनका यौन शोषण किया था और नारायण साईं ने छोटी बहन के साथ दुष्कर्म किया| इस मामले में दिसंबर 2013 को नारायण साईं को भी गिरफ्तार किया गया था, जो अभी भी सूरत जेल में बंद है|

 

Share.