कश्‍मीर में बदले गए रेडियो स्‍टेशनों के नाम

0

जम्‍मू कश्‍मीर से आर्टिकल 370 हटने (Article 370 removed from Jammu Kashmir) के बाद आज (गुरुवार ) जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेशों  में बाँट दिया गया है। इसी के बाद घाटी में चलने लगी है बदलाव की नई आंधी। इसी बदलाव की आंधी ने बदल दिये है वहाँ के सारे रेडियो स्‍टेशनों का नाम(Radio stations renamed ) । अब आज से घाटी और लद्दाख में ऑल इंडिया रेडियो (All india radio ) का टेलीकास्ट भी शुरू हो गया है। यहां के रेडियो स्‍टेशनों का नाम बदलकर ऑल इंडिया जम्‍मू (All India Jammu), ऑल इंडिया रेडियो श्रीनगर (All India Radio Srinagar ) और ऑल इंडिया रेडियो लेह (All India Radio Leh ) कर दिया गया है।

पहले प्रसार भारती के तहत रेडियो कश्‍मीर आता था, जिसका नियंत्रण सूचना प्रसारण मंत्रालय के पास ही था। इसके साथ ही रेडियो कश्‍मीर को, जम्‍मू में डोगरी और उर्दू में तथा श्रीनगर में कश्‍मीरी, उर्दू् और हिंदी में सुना जा सकता था। लेकिन अब दो प्रदेशों का बंटवारा होने के बाद सारे रेडियो स्टेशन का नाम बदल  दिया गया है।

सरदार वल्लभ भाई पटेल की 144वीं जयंती के अवसर पर 31 अक्टूबर से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो नए केंद्र शासित प्रदेशों के रूप में अस्तित्व में आ गए हैं। जम्मू-कश्मीर को आज गिरीश चंद्र मुर्मू के रूप में अपना पहला राज्यपाल मिल जाएगा, तो वहीं पूर्व रक्षा सचिव राधा कृष्ण माथुर ने लद्दाख के पहले उपराज्यपाल के तौर पर गुरुवार को शपथ ली। जम्मू-कश्मीर में पुडुचेरी की तरह ही विधानसभा होगी, तो वहीं लद्दाख चंडीगढ़ की तरह बिना विधानसभा वाला केंद्र शासित प्रदेश होगा। नए जम्मू-कश्मीर में पुलिस व कानून-व्यवस्था केंद्र सरकार के अधीन होगी, जबकि भूमि व्यवस्था की देखरेख की जिम्मेदारी निर्वाचित सरकार के तहत होगी।

    – Ranjita Pathare 

Share.