फर्जी छात्र और बेरहम पुलिसवालों की जामिया प्रशासन ने सुनाई दास्तान

0

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ देश के कई हिस्सों  प्रदर्शन हो रहे हैं। दिल्ली की जामिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Islamia University of Delhi ) मे भी छात्रों ने अधिनियम का विरोध किया, लेकिन देखते ही देखते ये प्रदर्शन हिंसक  हो गया। पुलिस ने छात्रों पर डंडे और आँसू गैस के गोले बरसाए। अब इस मामले पर  जमिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Millia Islamia University) के वीसी नजमा अख्तर (VC Najma Akhtar Statement) ने बयान दिया है और उन्होने इन हालातों के लिए सरकार के साथ-साथ  प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया। इसके साथ ही  कहा कि वे पुलिसवालों के खिलाफ एफआईआर  (FIR) दर्ज करवाएगी।

जामिया जल रहा है, क्यों चुप बैठे हैं शाहरुख खान?

जामिया की वीसी नजमा अख्तर (VC Najma Akhtar Statement ) ने  कहा कि यूनिवर्सिटी को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचा है, इस सब की भरपाई कैसे होगी।  आप प्रॉपर्टी को फिर से बना सकते हैं लेकिन स्टूडेंट्स जिन हालात से गुजरे उसकी भरपाई कैसे होगी। हम इस मामले में हाई लेवल जांच की मांग करेंगे। यह हमारे लिए एक भावनात्मक आघात था। सभी से अपील करती हूं कि किसी तरह की अफवाह पर यकीन न करें। दो छात्रों के मारे जाने की अफवाह है, हम इसे पूरी तरह खारिज करते हैं, किसी छात्र की मौत नहीं हुई है। 200 लोग घायल हुए हैं जिनमें कई छात्र भी शामिल हैं। जामिया के छात्र किसी तरह की हिंसा में शामिल नहीं है। प्रदर्शन जामिया में नहीं हुआ है, उसे भी जामिया यूनिवर्सिटी के नाम से फैलाया जा रहा है। इससे हमारी यूनिवर्सिटी की इमेज खराब हो रही है।

CAA Jamia Students Protests Video :  देखिये, जलते जामिया के भयानक वीडियो

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि 50 छात्रों में से 35 छात्रों को कालकाजी पुलिस थाने से और 15 छात्रों को न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी पुलिस थाने से रिहा किया गया। विश्वविद्यालय में रविवार को हुई हिंसा के बाद स्थिति सोमवार को भी तनावपूर्ण बनी हुई है और छुट्टी होने के बाद अब कई छात्र-छात्राएं अपने घरों के लिए रवाना हो रहे हैं। वहीं प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे की अगुवाई वाली एक पीठ ने कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और उपद्रव (Upendra) पर भी सोमवार को सख्त रूप अपनाया और कहा कि यह सब फौरन बंद होना चाहिए।

Today Cartoon On CAB Protest : शिक्षा का मंदिर बना जंग का मैदान ?

            – Ranjita Pathare

 

Share.