IRCTC के नियमों में बड़ा बदलाव, नहीं जानने पर होगा भारी नुकसान

0

IRCTC यात्रियों के सुविधाओं का पूरा ध्यान रखता है। इसलिए समय समय पर उनकी जरूरतों के हिसाब से रेलवे के नियमों (IRCTC Ticket Rule) में बदलाव करता रहता है. रेलवे ने टिकट बुकिंग की लेकर फिर से एक बदलाव किया जिससे टिकट बुकिंग में और अधिक पारदर्शिता हो जाएगी। जानकारी के अनुसार आईआरसीटीसी ओटीपी (OTP) आधारित प्रणाली लेकर आया है. इस सुविधा के द्वारा यात्रियों को टिकट कैंसिल (Ticket Cancellation) कराने और आईआरसीटीसी द्वारा दिए गए पासवर्ड का इस्तेमाल कर रिफंड पाने की सुविधा होगी (IRCTC Refund Rules 2019). आईआरसीटीसी की तरफ से दिए गए बयान में कहा गया है की यह सुविधा केवल उसके अधिकृत एजेंटों के माध्यम से बुक कराई गई ई-टिकटों पर लागू होगी.

IRCTC 20 हजार रुपये लेकर बनाती है रेलवे टिकट एजेंट

जानकारी के अनुसार IRCTC ने कहा है की ओटीपी आधारित रिफंड प्रक्रिया उपभोक्ताओं के लाभ के लिए व्यवस्था में ज्यादा पारदर्शिता सुनिश्चित करेगी (IRCTC Refund Rules 2019). यह उपभोक्ता अनुकूल सुविधा होगी, जहां यात्री कैंसिल कराई गई टिकट या पूर्ण वेटिंग लिस्ट टिकट के लिए उसकी तरफ से एजेंट द्वारा प्राप्त की गई रिफंड राशि की सही सूचना पा सकेगा.

शिवसेना के बिना ही फड़नवीस के सिर पर महाराष्ट्र का ताज!

IRCTC के नए नियम (IRCTC Refund Rules 2019) के अनुसार जब भी कोई यात्री अधिकृत आईआरसीटीसी एजेंट के द्वार बुक कराई गई टिकट या पूर्ण वेटलिस्ट टिकट कैंसल कराता है तो रिफंड राशि और वन टाइम पासवर्ड का एक एसएमएस (SMS) यात्री के मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा. उसके बाद यात्री को रिफंड पाने के लिए उस एजेंट के साथ यह ओटीपी शेयर करना होगा, जिसने टिकट बुक की थी. आईआरसीटीसी के एक अधिकारी ने प्रक्रिया के बारे में विस्तार से बताया कि अब जब रिफंड ओटीपी आधारित होगा, यात्रियों को बस इतना करना होगा कि वे बुकिंग के वक्त अपना ही फोन नंबर दें. रेलवे के एक अधिकारी के अनुसार लगभग 27 प्रतिशत टिकट रोजाना अधिकृत एजेंटों के द्वारा बुक कराए जाते हैं. इनमें से 20 प्रतिशत टिकट कैंसिल भी कर दी जाती है।

कश्मीर में नरसंहार पर दीदी का हमला!

-Mradul tripathi

Share.