OMG : पहली शादी से भाग गए थे करुणानिधि…

0

तमिलनाडु में पांच बार मुख्यमंत्री बनकर इतिहास रचने वाले डीएमके प्रमुख एम.करुणानिधि के निधन से सूबे की राजधानी को बड़ा झटका लगा है| वे दक्षिण भारत की राजनीति के पितामह कहलाते थे| द्रविड़ आंदोलन को मानने वाले और नास्तिक करुणानिधि को लोग भगवान का दर्जा दे चुके थे| सफेद कपड़ों पर उनकी पीली शॉल और काला चश्मा उनकी पहचान बन गया था| सिनेमा से राजनीति तक का सफ़र तय कर चुके करुणानिधि के बारे में क्या आप जानते हैं कि वे अपनी पहली शादी वाले दिन मंडप से भाग गए थे| लोग उन्हें कलाईनार के नाम से भी पुकारते थे|

वे महज 14 वर्ष की उम्र में ही द्रविड़ आंदोलन से जुड़ चुके थे| सितंबर 1944 में उनकी पहली शादी हुई थी, उस समय वे महज 20 वर्ष के थे| शादी के दिन कुछ ऐसा हुआ कि उनके भाग जाने पर रिश्तेदार उन्हें जबरन पकड़कर लाए और मंडप में बिठाया|

दरअसल, जब करुणानिधि मंडप में बैठे दुल्हन पद्मावती का इंतज़ार कर रहे थे, उसी समय मंडप के बाहर हिन्दी विरोधी रैली निकल रही थी| जैसे ही रैली की आवाज़ उनके कानों तक पहुंची, वे उठकर ‘तमिल जिंदाबाद, हिन्दी मुर्दाबाद’ का नारा लगाते हुए शादी के मैदान से बाहर चले गए|

वे स्वयं की शादी छोड़ रैली में शामिल हो गए| इसके बाद दुल्हन सहित रिश्तेदारों ने उनका काफी देर इंतज़ार किया, लेकिन जब वे नहीं आए तो उन्हें जबरन लाया गया और फिर शादी संपन्न हुई| करुणानिधि की उस समय पद्मावती से शादी हो रही थी, जो चिदंबरम के गायक सुंदरनार की बेटी थी| इसके बाद करुणानिधि ने दो और शादियां की| उनके 6 बच्चे हैं|

गौरतलब है कि करुणानिधि का उनके गुरु अन्‍नादुरई की समाधि के पास पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया| वे द्रविड़ आंदोलन से संबंध रखते थे, इसलिए उन्हें दफनाया गया|

जानिए Karunanidhi क्यों लगाते थे हमेशा काला चश्मा ?

Karunanidhi के अंतिम दर्शन के दौरान भगदड़, 2 की मौत, कई घायल

Karunanidhi Death: जानिए कौन संभालेगा करुणानिधि की विरासत?

Share.