website counter widget

भारतीय नौसेना का चेतक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त

0

पिछले सप्ताह उड़ान भरने के बाद भारतीय नौसेना (Indian Navy)  का चेतक हेलीकॉप्टर (Indian Navy Chetak Helicopter Crashed) अरब सागर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। दरअसल, हेलीकॉप्टर तकनीकी खराबी होने की वजह से दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हालांकि क्रू मेंबर्स की सूझबूझ के कारण बड़ा हादसा होते-होते टल गया। इस हादसे के संबंध में भारतीय नौसेना के अधिकारियों ने बताया कि हेलीकॉप्टर में तकनीकी खराबी आखिर किस वजह से हुई, इसकी जांच के लिए बोर्ड ऑफ इन्क्वायरी के आदेश दे दिए गए हैं।

कई राज्यों में दिखा तबाही का मंज़र, करीब 46 लोगों की मौत  

Image result for चेतक हेलिकॉप्टर

नौसेना ने कहा कि रिपोर्ट के मुताबिक, हेलीकॉप्टर (Indian Navy Chetak Helicopter Crashed) में तकनीकी खराबी का पता लगने के बाद उसमें सवार क्रू सदस्यों ने अपने व्यावहारिक कौशल का प्रदर्शन करते हुए उसे पानी में गिरा दिया और सफलतापूर्वक उससे बाहर निकल आए। राहत की बात रही कि उसमें सवार सभी क्रू मेंबर सुरक्षित हैं।

बता दें कि हेलीकॉप्टर (Indian Navy Chetak Helicopter Crashed) एक भारतीय नौसैनिक युद्धपोत का हिस्सा था, जिसे अरब सागर में तैनात किया गया था। दुर्घटना का शिकार हुआ चेतक हेलीकॉप्टर भारतीय नौसेना के युद्धपोत का अभिन्न हिस्सा था| इसे अरब सागर में तैनात किया गया था| बता दें कि पिछले साल (2018) अगस्त में केरल में आए भारी बारिश और बाढ़ के दौरान नौसेना की नौका बाढ़ प्रभावित इलाकों में पहुंची और रक्षाकर्मियों की सहायता से बचाव अभियान में चेतक हेलीकॉप्टर ने अहम भूमिका निभाई| इंडियन नेवी के जवान बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में अदम्य साहस का परिचय देते हुए बाढ़ में जूझती जिंदगियों को बचाने का काम किया| इंडियन नेवी के जवान सभी को बचाने का काम बखूबी किया| ऐसा ही एक वीडियो सामने आया था| इसमें अलूवा में चेतक हेलीकॉप्टर के जरिए नेवी के जवान एक छोटे से बच्चे को रेस्क्यू करते हुए दिखाई दिए थे|

पूर्व मुख्यमंत्री के बेटे की अचानक मौत, कारण…

चेतक हेलिकॉप्टर नेवी के पास मौजूद सबसे पुराना हेलिकॉप्टर है, जिसकी टेक्नोलॉजी 1960 की है। पिछले दिनों खबर आई थी कि नेवी को 111 नेवी यूटिलिटी हेलिकॉप्टर की ज़रूरत है, जो चेतक हेलिकॉप्टर को रिप्लेस करेंगें। इंडियन नेवी चेतक हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल सर्च और रेस्क्यू ऑपरेशन, लो इंटेंसिटी मेरीटाइम ऑपरेशन, पैसेंजर रोल और कुछ एंटी सबमरीन वॉरफेयर ऑपरेशन में भी करती है। वैसे 2015 में चेतक हेलिकॉप्टर को रिप्लेस करने को लिए आरएफआई (रिक्वेस्ट फॉर इंफर्मेशन) जारी की गई थी, लेकिन फिर इसे विड्रॉ कर लिया गया।

Related image

2017 में फिर नई आरएफआई जारी की गई, जिसमें कहा गया कि नए हेलिकॉप्टर स्ट्रौटजिक पार्टनरशिप के जरिए लिए जाएंगे। यानी विदेशी मैन्युफैक्चरिंग कंपनी को हेलिकॉप्टर भारत में ही बनाने होंगे। साथ ही क्वॉलिटेटिव रिक्वायरमेट (क्यूआर) में भी बदलाव किया गया और कहा गया कि टू इंजन हेलिकॉप्टर की जरूरत है, जो ज्यादा सेफ होते हैं। नेवी ने जो एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (ईओआई) जारी किया है| उसमें कहा गया है कि ओरिजिनल इक्विपमेंट मैन्युफेक्चरर (ओईएम) को मैन्युफैक्चरिंग लाइन भारत में बनानी होगी और 111 में से कम से कम 95 हेलिकॉप्टर भारत में बनाने होंगें।

मप्र के ई-टेंडर घोटाले में ब्रह्मे का घर खंगाला

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.