भारतीय सेना को मिली दुनिया की सबसे शक्तिशाली राइफल

0

जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) में नियंत्रण रेखा (LoC) पर आतंकियों के घुसपैठ और पाकिस्तानी सेना  के लगातार सीजफायर के उल्लंघन (Pakistan ceasefire violations ) का सामना कर रही भारतीय सेना की ताकत में अब इजाफा हो गया है (American Assault Rifles)। अब सेना के पास ऐसे हथियार आए हैं, जिससे आतंकवादियों के छक्के छूट जाएँगे।  भारतीय सेना को आधुनिकरण की प्रक्रिया के तहत 10 हजार अमेरिकन सिग सउर रायफल (American SiG Sauer assault) की पहली खेप मिलनी शुरू हो गई है।

हैंडपंप से पानी नहीं निकल रहा है मांस, हड्डियां और खून

बताया जा रहा है कि भारतीय सेना (Indian Army ) ने अपनी स्नाइपर राइफलों (Sniper rifles ) के लिए गोला-बारूद की आपूर्ति भी शुरू कर दी है। विक्रेताओं को 21 लाख से अधिक राउंड गोली का आदेश दिया गया है। सेना के सूत्रों का कहना है कि पहले फेज में अमेरिका से 10 हजार एसआईजी 716 असॉल्ट राइफल (American Assault Rifles) भारत को मिले हैं। इन्हें सेना के उत्तरी कमान को भेज दिया गया है। उत्तरी कमान जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद-रोधी अभियानों को देखती है। इसमें पाकिस्तान और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर ( Pakistan Occupied Kashmir ) से आतंकवादियों के घुसपैठ को रोकना भी शामिल है। सैनिकों के ऑपरेशन में इन नई असॉल्ट राइफलों (Assault rifles ) को शामिल करने से उन्हें पाकिस्तान और पीओके में आतंकियों से निपटने में काफी मदद मिलेगी।

देशद्रोहियों का साथ दे रही है दिल्ली सरकार ?

यह भी कहा जा रहा है कि इन अत्याधुनिक राइफलों का इस्तेमाल जम्मू-कश्मीर में आतंकरोधी अभियान में किया जाएगा। ये राइफलें आतंकियों का काल बनेगी। भारत ने अमेरिका के साथ 700 करोड़ रुपये की राइफलों की डील की थी। इसके तहत अमेरिकी से भारतीय सेना को 72,400 नई असॉल्ट राइफलें मिलनी हैं। इंका निर्माण अमेरिकी में हुआ है। फास्ट ट्रैक प्रॉक्योरमेंट (fast-track procurement, FTP) के तहत इनकी आपूर्ति एक साल के भीतर होनी है। अमेरिका से खरीदी जाने वाली इन 72,400 राइफलों को तीन भागों में बांटा जाएगा। इनमें से 66 हजार राइफलें भारतीय सेना को जबकि 2000 राइफलें नौसेना और 4000 भारतीय वायुसेना को मिलनी हैं।

क्या नागरिकता बिल  मुस्लिमों के खिलाफ है ? पढ़ें शाह का भाषण

            – Ranjita Pathare 

Share.