भारत-पाकिस्तान करेंगे कैदियों को रिहा

0

भारत-पाकिस्तान के बीच भले ही कई मुद्दों पर मतभेद बने रहते हो, परंतु मानवीय मुद्दों पर दोनों ने साथ आकर अपनी दरियादिली का परिचय दिया है| सुलह यह हुई है कि भारत, पाकिस्तान के पांच कैदियों को तथा पाकिस्तान, भारत के 54 कैदियों को रिहा कर देगा| कैदियों की रिहाई को लेकर हुआ यह समझौता विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तानी उच्चायोग सोहेल महमूद के बीच साल 2017 में हुई बातचीत का नतीजा है।

गौरतलब है कि भारत ने जनवरी में पाकिस्तान को अपने यहां कैद  250 नागरिकों और 94 मछुआरों की एक सूची दी थी। वहीं पाकिस्तान ने अपनी गिरफ्त में  58 नागरिकों और 399 मछुआरों की सूची साझा की थी। यह निर्णय लिया गया था कि दोनों देश बीमार और 70 वर्ष से अधिक उम्र वाले कैदियों को रिहा कर देंगे| इसके बाद एक-दूसरे के देश में कैदियों की हालत जानने के लिए डॉक्टरों की टीम भेजी गई, जिसके बाद यह तय हुआ कि भारत के 54 कैदी तथा पाकिस्तान के 5 कैदी स्वदेश लौटेंगे|

साथ ही भारत और पाकिस्तान संयुक्त न्यायिक समिति के दौरे को फिर से शुरू करने पर भी सहमत हो गए हैं| यह समिति एक-दूसरे के देशों की जेलों में बंद नागरिकों और मछुआरों के मुद्दों को देखती है।

Share.