चौथे युद्ध को तैयार भारत और पाकिस्तान

0

हिंदुस्तान और पाकिस्तान के बीच चौथे युद्ध (India Pakistan Ready For Fourth War) की तैयारी की जा रही है। कश्मीर (kashmir) मे बने हालातों के बाद पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान डर गए हैं! उन्हें युद्ध का भय सता रहा है। आज़ादी के बाद वर्ष 1947 में कश्मीर को लेकर युद्ध हुआ था, वैसा ही माहौल अभी भी बना हुआ है। तब से लेकर अब तक दोनों देशों के बीच तीन बड़ी लड़ाइयाँ और कई छोटी लड़ाइयाँ हो चुकी है। अब आज फिर वैसे ही हालात बने हुए हैं। अब भारत और पाकिस्तान के बीच चौथे युद्ध की तैयारी हो रही है।

Union Cabinet Meeting LIVE : क्या हट जाएगी धारा 35 ए और 370?

कश्मीर (India Pakistan Ready For Fourth War) में मोदी सरकार ने धारा 144 लागू कर दी है। इंटरनेट सेवा के साथ ही मोबाइल सेवा भी बंद कर दी है, लोगों को घर से बाहर निकलने से भी मना किया गया है इतना ही नहीं सुरक्षा के लिहाज से घाट में सात लाख से भी ज्यादा सैनिकों को तैनात किया गया है। जहां एक ओर भारत में बैठकों का दौर शुरू हो गया है, वहीं पाकिस्तान में भी पीएम इमरान खान एक के बाद एक बैठकें कर रहे हैं। दोनों देशों में बढ़ी हलचल बस इसी बात कि ओर इशारा कर रही है कि अब कुछ बड़ा होने वाला है। भारत और पाकिस्तान के बीच चौथे युद्ध की भी आशंका जताई जा रही है।

Jammu Kashmir Crisis LIVE Updates : धारा 370 को हटाने का संकल्प पेश

ट्रंप से गुहार

कश्मीर में शुरू हुई सियासी हलचल से पाकितान के प्रधानमंत्री इमरान खान डरे हुए हैं। उन्होने इस मामले में अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प से गुहार लगाई है कि मुद्दे का समाधान करें। इमरान खान (Imran Khan) ने  ट्वीट करते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) कश्मीर मामले में मध्यस्थता करें। उन्होने ट्वीट किया, “राष्ट्रपति ट्रंप (Donald Trump) ने कश्मीर मामले में मध्यस्थता की पेशकश की। अब ऐसा करने का समय आ गया है क्योंकि वहां हालात खराब हो रहे हैं और नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना नए आक्रामक कदम उठा रही है। यह क्षेत्रीय संकट को हवा देने वाले कदम हैं। ”

महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला नजरबंद, क्या है मोदी का मेगा प्लान?

इमरान खान (India Pakistan Ready For Fourth War) ने राष्ट्रीय सुरक्षा समिति के साथ बैठक की । यह बैठक सेना के उन आरोपों के बाद बुलाई जिनमें भारत द्वारा ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में आम लोगों को निशाना बनाकर क्लस्टर बमों का इस्तेमाल करने की बात कही गई है। पहले भी कश्मीर मुद्दे को लेकर पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान अमेरिकी राष्ट्रपति से मदद मांग चुके हैं, उनके सामने मध्यस्थता की पेशकश कर चुके हैं, लेकिन उस समय भी भारत ने मध्यस्थता के फैसले को मानने से इंकार कर दिया था। कश्मीर मे हो रही हलचलों पर सभी लोगों की नजर हैं चाहे देश हो या विदेश। इस मामले पर अब मोदी सरकार जल्द ही बड़ा फैसला लेने वाली है, जिसका सभी को इंतजार है।

Share.