Surgical Strike 2 : युद्ध के लिए तैयार भारत और पाकिस्तान की सेनाएं

0

पुलवामा में आतंकियों द्वारा सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया गया था| इसके बाद से भारत का जन-जन आक्रोशित था | पुलवामा हमले (Pulwama Terror Attack) का बदला लेते हुए भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी की रात करीब 3:30 बजे पाकिस्तान के खिलाफ बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए 1000 किलो के बम के साथ हमला (Surgical Strike 2) कर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया| इस हमले के बाद से पाकिस्तान काफी बौखलाया हुआ है और इस कार्रवाई का जवाब देने के लिए वह छटपटा (India Pakistan Ready For War ) रहा है|

IAF Air Strikes in POK Live Update: गोलीबारी रुकी, सर्च ऑपरेशन जारी

भारत की इस कार्रवाई के बाद दोनों देशों में तनाव (India Pakistan Ready For War ) बढ़ गया है| दोनों देशों की सेनाएं सीमा पर मोर्चा लेकर खड़ी हो गई है|

इन हथियारों के साथ सेनाएं तैयार

भारत

जहां भारत अपने सैनिकों, अस्त्र-शस्त्रों, टैंकरों, लड़ाकू विमानों, बमवर्षक विमानों, ग्राउंड अटैक एयरक्राफ्ट, हेलीकॉप्टर, एयरक्राफ्ट कैनन, मशीन गन, एयर लॉन्‍च ‍मिसाइल, क्रूज़ ‍मिसाइल तक हो सकते हैं। अलग़-अलग तरह के बम, ग्लाइड बम और लेजर गाइडेड बम से लैस होकर तैयार है|

पाकिस्तान    

वहीं पाकिस्तान भी शाहीन-2 मिसाइल, सैनिकों, टैंकों, सशस्त्र पर्सनल करियर्स, तोपों, कॉम्बेट एयरक्राफ्ट यहां तक कि फ्रिगेट्स, सब्मरिंस और कोस्टल जहाज और अन्य हथियारों के साथ हमला करने को तैयार हैं|

दोनों सेनाओं को देश के हुक्मरानों के आदेश का इंतज़ार है| आदेश मिलते ही युद्ध शुरू (India Pakistan Ready For War ) हो जाएगा| वर्तमान में भारत और पाक में बैठकों का दौर चल रहा है |

सवाल यह है कि क्या सरकारें युद्ध (India Pakistan Ready For War ) की अनुमति देंगी ? दरअसल, सरकारों को किसी भी एक्शन या रिएक्शन से पहले दस तरह की और चीज़ें भी सोचनी पड़ती हैं| इस समय हमारे देश के सभी लोग चाह रहे हैं कि भारत को पाकिस्तान पर हमला कर देना चाहिए?  पर इस समय परिस्थितियां इसकी इजाज़त नहीं दे रही हैं| हां, यदि सीमा पर तैनात दोनों देशों की सेनाओं में से पाकिस्तान ने यदि पहले कोई बड़ा हमला किया तो युद्ध शुरू हो जाएगा| वैसे छोटी-मोटी गोलाबारी कर पकिस्तान हमेशा सीजफायर का उल्लंघन तो करता ही रहता है|

इसके पूर्व 13 दिसंबर 2001  को जब लोकसभा बिल्डिंग पर चरमपंथी हमला हुआ था| तब भी युद्ध के हालात बन चुके थे| इस हमले के दो दिन बाद रक्षा मंत्रालय की तरफ़ से सेना को मार्चिंग ऑर्डर मिल चुके थे| 1971 के बांग्लादेश युद्ध के बाद पाकिस्तान से मिली सीमा पर भारतीय सेना की ये सबसे बड़ी तैनाती थी| परंतु अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण युद्ध टाल दिया गया था| पुलवामा के पहले पठानकोट और उरी की घटना, 2008 के मुंबई हमले, 1993 के मुंबई में दर्जनभर बम विस्फोटों से तबाही के बाद भी युद्ध नहीं हुआ था|

पुलवामा हमले और भारत की एयर स्ट्राइक के बाद इस समय सीमा पर हालात विस्फोटक हैं| इशारा मिलते ही युद्ध शुरू हो सकता है, पर क्या ऐसा हो पाएगा|

बीजेपी की झूठी सर्जिकल स्ट्राइक, सब प्लानिंग से हुआ-पूर्व मंत्री

शहीदों की तेरहवीं और श्राद्ध पूर्ण हुआ-भागवत

अंकुर उपाध्याय

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.