पहले दगा, अब सता के लिए भाजपा बनी मां  

0

हरियाणा (Haryana) के चुनावी दंगल में अब भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के बागी नेता घर वापसी कर रहे हैं। हरियाणा में भाजपा अभी तक बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई है, जिसके लिए उसे निर्दलीय दलों की आवश्यता पड़ रही है। इस चुनाव में बीजेपी का ‘अबकी बार 75 पार’ के नारे का भी जादू नहीं चला। बहुमत के लिए  46 सीटें भी बाजपा हासिल नहीं कर पाई है। बीजेपी जोत-तोड़ कर जुगाड़ जमा रही है। वहीं बीजेपी के बागी पार्टी को अपनी मां बताकर पार्टी के प्रति अपनी वफादारी पेश कर रहे हैं। इसके साथ ही दिवाली बाद भाजपा सरकार (BJP Government) बनाने का भी दावा कर रहे हैं।

दिवाली बाद बनेगी भाजपा सरकार

फिर से भाजपा का दामन वाले थामने निर्दलीय विधायक रणधीर गोलन (Independent MLA Randhir Golan) ने भारतीय जनता पार्टी को अपनी मां बताया है। उनका कहना है कि वह 30 साल तक बीजेपी कार्यकर्ता रहे हैं और  वह बीजेपी में ही थे कहीं नहीं गए थे। बीजेपी उनकी मां है। वे कभी भाजपा से अलग हुए ही नए और न ही आगे कभी ऐसा हो सकता है। ये कुछ समय के लिए था, लेकिन अब भाजपा हरियाणा में चुनाव जीत रही है। चाहे कोई कितनी भी कोशीशे कर लें, लेकिन भाजपा को मात नहीं दे सकते हैं। वहीं भाजपा के हरियाणा प्रभारी अनिल जैन का कहना है कि बीजेपी को 8 निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त है। दिवाली के बाद शपथ ग्रहण समरोह होगा और भाजपा सरकार बनेगी।

भाजपा के साथ गोपाल कांडा

हरियाणा में भाजपा (BJP in Haryana)  के साथ कई निर्दलीय आ रहे हैं। सिरसा से जीते निर्दलीय विधायक गोपाला कांडा (MLA Gopala Kanda) ने भी बीजेपी को समर्थन दे दिया है। उनका कहना है कि उनका परिवार पिछले 30 साल से आरएसएस को समर्थन दे रहा है। उन्होने बिना किसी शर्त मे भाजपा को समर्थन दिया है। इसके साथ ही पृथला विधानसभा क्षेत्र से से निर्दलीय विधायक नयनपाल रावत ने भी बीजेपी को अपना समर्थन देने की घोषणा कर दी है।

   – Ranjita Pathare 

 

Share.