बैंकों को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला

0

भारतीय इकोनॉमी (Indian Economy) में सुस्‍ती से कई कंपनियों का कारोबार ठप्प हो गया है। व्यापारियों के बीच हाहाकार मचा हुआ है। अब इस पर मोदी सरकार (Modi government) ने बड़ा फैसला लिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) इकोनॉमी की सुस्‍ती को दूर करने के लिए आज मीडिया को संबोधित किया। उन्‍होंने कहा कि हमारी सरकार 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने के लिए प्रयास कर रही है। बैंकिंग सेक्‍टर को लेकर कहा कि लोगों के हित में फैसले लिए जा रहे हैं।

Video : पीएम मोदी के खिलाफ बोल रहे थे पाक के मंत्री लगा करंट

कई बैंकों का विलय

निर्मला सीतारमण ने पंजाब नेशनल बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक के विलय की भी घोषणा की। उन्होने इस संबंध में कहा कि यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक का भी विलय होगा। इसके अलावा इंडियन बैंक में इलाहाबाद बैंक के विलय का ऐलान किया गया। इस विलय के बाद देश को 7वां बड़ा पीएसयू बैंक मिलेगा। उन्होने आगे कहा कि 18 में से 14 सरकारी बैंक प्रॉफिट में हैं। हाउसिंग फाइनेंस को 3300 करोड़ रुपये का सपोर्ट सरकार देगी।

कश्मीर में अब जल्द ही दौड़ेगी मेट्रो!

उन्होने आगे कहा कि अब तक 3 लाख से अधिक शेल कंपनियां बंद हो चुकी हैं। नीरव मोदी के बारे मे उन्होने कहा कि भगोड़ों की संपत्ति के जरिए रिकवरी जारी है। इससे पहले बीते शुक्रवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कई बड़े ऐलान किए। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंकों को जल्द ही 70,000 करोड़ रुपये की पूंजी उपलब्ध कराने का ऐलान किया। बैंक अब आरबीआई द्वारा रेपो रेट में की गई कटौती का फायदा सीधे ग्राहकों को देंगे। इसका असर ये होगा कि ग्राहकों को अब होम और ऑटो लोन सस्ते मिलेंगे।

ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने कांग्रेस को कहा अलविदा!

 

Share.