ओबीसी सम्मेलन में जमकर बरसे राहुल

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी  ने सोमवार को ओबीसी सम्मेलन में इशारों-इशारों में भारतीय जनता पार्टी और संघ को जमकर घेरा|  दिल्ली में ओबीसी की सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने 2019  का चुनावी बिगुल फूंका| उन्होंने यहां अन्य कई मुद्दों पर अपनी बात रखी | कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकतंत्र और जनता के मुद्दों पर सरकार के दो चेहरों पर अपनी बात कही| गांधी  ने कहा कि  इस देश में काम करने वाले हमेशा पीछे रह जाते हैं| उन्होंने सरकार की विफलताओं को गिनाते हुए कहा कि  यह सरकार सिर्फ उद्योगपतियों की है, किसानों की नहीं है|

इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ओबीसी वर्ग के उत्थान को लेकर कोका-कोला कंपनी का उदाहरण दिया| उन्होंने कहा, “कोका-कोला कंपनी को शुरू करने वाला एक शिकंजी बेचने वाला व्यक्ति था| वह अमरीका में शिकंजी बेचता था| पानी में शक्कर मिलाता था|  उसके काम का आदर हुआ|  उसे पैसा मिला और कोका-कोला कंपनी बनी|” भारत में काम करने वालों को आगे नहीं बढ़ाया जाता है|

इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर इशारों-इशारों में आरोप लगाया कि वे दूसरों के काम का क्रेडिट लेते हैं। इसके अलावा उन्होंने मोदी सरकार पर कुछ मुट्ठीभर अमीरों के लिए काम करने का आरोप लगाया। कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार सिर्फ 15 सबसे अमीर लोगों के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि किसान आत्महत्या कर रहे हैं, लेकिन उनका कर्ज माफ नहीं होगा|  राहुल गांधी  ने इस मौके पर आरएसएस के विचारधाराओं पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि  लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है| 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले राहुल गांधी  के ये तीखे बोल भाजपा की मुश्किलें बढ़ा सकते हैं|

Share.