33 लाख की इमरजेंसी लाइट से तस्‍करी….

0

तस्करी के लिए लोग कई चीजों का उपोयोग करते हैं। पुलिस ने अब एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, जिसने सोने की तस्करी (gold smuggling) के लिए एक नया तरिका ईजाद किया। दरअसल, तस्‍करों ने तस्‍करी का मंसूबा पूरा करने के लिए इमरजेंसी लाइट के अंदर लगने वाले उपकरणों को सोने से बना डाला। तस्करों की इतनी मेहनत के बाद भी वे पुलिस की नज़रों से नहीं बच पाए। सोने से बने उपकरण ठीक उसी तरह काम कर रहे थे, जिस तरह एक साधारण इमरजेंसी लाइट काम करती है।

करंट की चपेट में आने से बच्ची की मौत, मां घायल

जानकारी के अनुसार, दिल्‍ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर कस्‍टम अधिकारी ने सोने का इस्‍तेमाल कर बनाई गई इमरजेंसी लाइट को अपने कब्‍जे में ली। साधारण एमरजेंसी लाइट की तरह दिखने वाली लाइट को जब पूरा खोला गया तो सभी चौंक गए। जांच में पता चला कि इमरजेंसी लाइट के अंदर लगने वाली मेटेलिक प्‍लेट को करीब 1050 ग्राम सोने से बनाया गया था। आरोपी की गिफ्तारी के बाद पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। कस्‍टम एयर इंटेलीजेंस की टीम ने सोना अपने कब्‍जे में ले लिया। एक अधिकारी ने बताया कि यह आरोपी तस्‍कर सुरक्षा एजेंसियों से बचने के लिए कई तरह की जुगत लगाई थी। पहली जुगत के तहत उसने सोने को इमरजेंसी लाइट के भीतर छिपाया था।

स्टेडियम का मज़ा आपके शहर इंदौर में

अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियों से बचने के लिए आरोपी सबसे पहले रियाद से कोलंबो के लिए फ्लाइट नंबर यूए-266 से रवाना हुआ। इसके बाद वह कोलंबो पहुंचा और फ्लाइट संख्‍या यूएल-121 से चेन्‍नई आया. इसके बाद, वह चेन्‍नई से स्‍पाइस जेट की फ्लाइट से दिल्‍ली एयरपोर्ट के टर्मिनल 1 पहुंचा। आरोपी के बारे में सुरक्षा अधिकारीयों को पहले ही भनक लग गई थी। जानकरी होने के कारण कस्‍टम के अधिकारियों ने पहले ही टर्मिनल वन के एराइवल हॉल पर ही आरोपी को पकड़ लिया।

शीला दीक्षित ने की ‘आप’ की तौहीन

Share.