website counter widget

रेलवे स्टेशन पर एक भूल और जाओगे सीधे जेल

0

भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा के लिए कई तरह के नियम बनाए हैं। देश में आज भी कई लोग ऐसे हैं जिन्हें रेलवे के कई नियमों की जानकारी नहीं है। इसलिए आज हम आपको रेलवे के एक ऐसे ही नियम के बारे में बताने जा रहे हैं ताकि आपको किसी भी तरह का कोई जुर्माना या फिर सजा न काटना पड़े। भारतीय रेलवे ने हर स्टेशन पर एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर जाने के लिए फुट ओवर ब्रिज बनाए हैं ताकि लोग पटरियों से होकर दूसरे प्लेटफॉर्म पर ना जाएं। लेकिन कई लोग चंद मिनट बचाने और अपने आलस के कारण फुट ओवर ब्रिज को नज़र अंदाज़ कर देते हैं और पटरियां पार करने की कोशिश करते हैं।

ख़त्म होती कांग्रेस

गौरतलब है कि पटरियां पार करना न सिर्फ जोखिम भरा है बल्कि यह एक दंडनीय अपराध भी है। पटरियां पार करने से आपकी जान जाए या न जाय लेकिन आप सलाखों के पीछे जरूर जा सकते हैं। देश में होने वाले ज्यादातर रेल हादसों में सबसे अधिक मौतें पटरियां पार करते हुए लोगों की होती हैं। इस तरह की घटनाओं की रोकथाम के लिए अब सरकार ने अपने प्रयासों को तेज कर दिया है। देश भर में व्यापक पैमाने पर सरकार फुटओवर ब्रिज व रोड अंडर ब्रिज का निर्माण करवा रही है। लोगों को पटरियां पार करने से बचाने के लिए सरकार इनका निर्माण करवा रही है। वहीं रेलवे ने भी पटरियां पार करने वालों के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया है।

Karnataka Political Crisis : जानिए दिनभर का घटनाक्रम

रेलवे अब अपने इस अभियान के तहत रेल की पटरियां पार करने वालों को पकड़ रहा है। पटरियां पार करना एक दंडनीय अपराध है। अगर कोई व्यक्ति पटरियां पार करते हुए पकड़ा जाता है तो उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 147 के तहत कार्रवाई की जाती है। इस अपराध के लिए उस व्यक्ति को 6 माह की जेल की सजा हो सकती है। इतना ही नहीं उस व्यक्ति पर 1000 रुपए तक का जुर्माना भी लगाया जा सकता है। रेलवे ने इसे लेकर अब व्यापक तौर पर जन-जागरूकता अभियान शुरू कर दिया है। अगर आप भी सजा और जुर्माने से बचना चाहते हैं तो हमेशा फुट ओवर ब्रिज का प्रयोग करें।

कांग्रेसी नेता का राहुल गांधी पर विवादित बयान

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.