website counter widget

बंद होने वाला है ये बड़ा बैंक जल्दी निकाल ले पैसे वरना…

0

आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक (Idea Payments Bank) के ग्राहकों के लिए बड़ी खबर है. क्योंकि आइडिया पेमेंट्स बैंक अपना कारोबार समेटने जा रहा है। ऐसे में अब बैंक (Bank) के ग्राहकों के लिए मुश्किल हो सकती है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सोमवार को बताया कि कंपनी के स्वेच्छा से अपना कारोबार समेटने का आवेदन करने के बाद उसके परिसमापन को मंजूरी दे दी गई है। रिजर्व बैंक ने कहा कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने डेलॉयट टूश तोमात्सु इंडिया एलएलपी (Deloitte Touche Tohmatsu India LLP) के वरिष्ठ निदेशक विजयकुमार वी. अय्यर को इसके लिए लिक्विडेटर नियुक्त किया है।

शिवसेना के आरोप पर बीजेपी का पलटवार


आपको बता दे की जुलाई 2019 में ही आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक ने यह ऐलान किया था कि वह जल्दी ही अपना कारोबार समेटेगा और ग्राहकों से कहा था कि वो अपने बैलेंस को जल्द से जल्द ट्रांसफर करा लें। इसलिए अगर आपने समय रहते बैंक से अपना पैसा नहीं निकाला, तो हो सकता है कि आपका पैसा फंस जाए। और दिक्कत में पड़ सकते है। जानकारी के अनुसार कारोबार समेटने की वजह कंपनी ने ‘अप्रत्याशित घटनाक्रम’ के चलते कारोबार का ‘अव्यवहारिक’ होना बताई थी।

Indira Gandhi’s Birth Anniversary: इन फैसलों ने इंडिया गांधी को बनाया आयरन लेडी

अगस्त 2015 में आइडिया पेमेंट्स बैंक को भारतीय रिजर्व बैंक से लाइसेंस मिला था। इसके बाद अप्रैल 2016 में आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक को शुरू किया गया था। यह बैंक आदित्य बिड़ला नुवो और आइडिया सेल्युलर का संयुक्त उपक्रम है। आपको बता दे इससे पहले भुगतान बैंकिंग बाजार में अब तक चार कंपनियां बोरिया बिस्तर समेट चुकी हैं। टेक महिंद्रा(Tech Mahindra) चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनैंस कंपनी(Cholamandalam Investment & Finance Company) और दिलीप सांघवी, आईडीएफसी बैंक लिमिटेड(IDFC Bank Limited) और टेलिनॉर फाइनैंशल सर्विसेज(Telenor Financial Services) के गठबंधन में बना भुगतान बैंक बाजार छोड़ने की घोषणा पहले ही कर चुके हैं।

इमरान खान पर भड़की उनकी पूर्व पत्नी कहा कर्मों का फल मिल रहा है!

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.