आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह से पूछताछ करेगी IB और रॉ

0

जम्मू कश्मीर (Jammu And Kashmir) में बीते शनिवार हिजबुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) के आतंकियों के साथ पकड़े गए पुलिस अधिकारी दविंदर सिंह (DSP Davinder Singh) पर अब शिकंजा कसा जाएगा। सूत्रों के हवाले से खबर आई है कि दविंदर से जल्द ही इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) और रॉ (RAW) की टीम पूछताछ करने वाली हैं। बड़ी बात तो ये है कि इन सब कारणों से दविंदर का राष्ट्रपति मेडल भी छीना जा सकता है। जानकारी के अनुसार दविंदर सिंह (Davinder Singh) को गिरफ्तार करने के तुरंत बाद जम्मू कश्मीर पुलिस ने गृहमंत्रालय के अधिकारियों से मुलाकात की है। मंत्रालय को कुलगाम के एनकाउंटर और दविंदर सिंह (Davinder Singh) के आतंकियों के साथ साठ-गांठ की सारी जानकारियां भी दी जा चुकी है। इतना ही नही बल्कि जल्द ही IB और रॉ के अधिकारी दविंदर से पूछताछ की जा सकती है साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि इस DSP से राष्ट्रपति मेडल भी छीना जा सकता है। पिछले साल 15 अगस्त को उन्हें राष्ट्रपति वीरता पदक से नवाजा गया था।

अफजल के बेटे ने की पासपोर्ट की मांग

(DSP Davinder Singh)  दावा किया गया है कि कार में सवार आतंकियों के साथ DSP ने 12 लाख रुपये की डील की थी। इसके बदले वो उन आतंकियों को सुरक्षित चंडीगढ़ (Chandigarh) पहुंचाने का काम करने वाला था। खबर तो ये भी है कि इस डील को पूरा करने के लिए दविंदर सिंह ने ऑफिस से चार दिनों की छुट्टी भी ली थी। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शनिवार को ऑफिसर और आतंकी को उस वक्त पकड़ा गया, जब ये तीनों एक साथ एक कार में सवार थे. पुलिस सूत्रों का कहना है कि हिजबुल मुजाहिदीन के दो मोस्ट वांटेड आतंकी पीछे की सीट पर बैठे थे, जबकि कार DSP दविंदर सिंह (Davinder Singh) चला रहा था. पकड़े गए आतंकियों में हिजबुल का टॉप कमांडर नवीद बाबू (Commander Navid Babu) है. इसके अलावा दूसरा आतंकी अल्ताफ था. DSP के घर से दो AK-47 राइफल्स और ग्रेनेड मिले हैं.

आज़ाद भारत में पहली फांसी किसे दी गई, और अभी तक कितने लोगों को हुई फांसी

(DSP Davinder Singh) कहा जा रहा है की साल 2004 में संसद हमले के दोषी अफजल गुरू (Afzal Guru) ने दावा किया था कि दविंदर ने उन्हें मोहम्मद नाम के एक शख्स को दिल्ली में किराए पर घर और कार खरीद कर देने को कहा था. मोहम्मद भी संसद पर हमले में शामिल था. जबकि अफजल गुरू (Afzal Guru) को साल 2013 में फांसी दे दी गई थी.

OMG : यहां से भारत आएंगे आतंकी…

-Mradul tripathi

Share.