मांग नहीं मानी तो सैकड़ों दलित बने…

0

 पिछले कई दिनों से अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे सैकड़ों दलितों ने धर्म परिवर्तन कर लिया| इसके बाद सरकार को विपक्ष के तंज का सामना करना पड़ रहा है|

बताया जा रहा है कि जींद तथा आसपास के क्षेत्र के 120 दलित पिछले 113 दिन से धरने पर बैठे थे| जब सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानी तो उन्होंने दिल्ली के लदाख बौद्ध भवन में जाकर बौद्ध धर्म अपना लिया|

दलितों की मांग है कि झांसा दुष्कर्म मामले में सीबीआई जांच की जाए, ईश्वर हत्याकांड के परिजन को नौकरी दी जाए, जम्मू में शहीद दलित के परिवार को नौकरी दी जाए तथा एससीएसटी एक्ट में अध्यादेश लाया जाए| दलित नेता ने बताया कि हिन्दू समाज के ठेकेदार दलितों का शोषण करने लगे थे इसलिए धर्म परिवर्तन मजबूरी बन गया था|

Share.