हैदराबाद की महिला डॉक्टर की फॉरेंसिक रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

0

तेलंगाना (Telangana) की राजधानी हैदराबाद (Hyderabad) में महिला डॉक्टर से बलात्कार (Woman doctor raped in Hyderabad) के बाद निर्मम हत्या कर दी गई थी। इस मामले में हर दिन कुछ न कुछ नया आ रहा है। चारों आरोपी पुलिस के एनकाउंटर में मारे जा चुके हैं, लेकिन यह एनकाउंटर (Hyderabad encounter ) जांच के दायरे में आ चुका है। अब मृतका की फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट (Forensic investigation report ) सामने आई है, जिसमें चौकाने वाले खुलासे हुए हैं। रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि दरिंदों ने कैसे हैवानियत की हद पार की। यह पुष्टि भी हो गई है डॉक्टर को मारने से पहले आरोपियों ने जबरदस्ती शराब भी पिलाई थी।

Hyderabad Encounter पर सुप्रीम कोर्ट की सख्त कार्रवाई

पोस्टमॉर्टम फॉरेंसिक टॉक्सिकोलॉजी (Postmortem forensic toxicology ) में इस बात का खुलासा किया गया है कि महिला डॉक्टर की लिवर टिशूज में शराब के अंश मिले हैं। पुलिस ने भी ऐसी आशंका जताई थी। पुलिस ने पहले इस बारे में कहा था कि आरोपियों ने डॉक्टर का रेप और मर्डर करने से पहले जबरदस्ती शराब भी पिलाई थी। डॉक्टर की बॉडी की हड्डियों को DNA जांच के लिए भेजा गया है।

SC में Hyderabad Encounter, मानवाधिकार आयोग की टीम कर रही जांच

एनकाउंटर पर कोर्ट सख्त

हैदराबाद के दरिंदों के एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्ती जताई है। सुप्रीम कोर्ट ने इस बारे में आदेश दिया है कि सभी मृतकों के शव को सुरक्षित रखने का फैसला कायम रहेगा। इसके साथ ही यह भी कहा है कि आयेाग की जांच के दौरान कोई अन्य अदालत जांच नहीं करेगा।  इस मामले की जांच के लिए शीर्ष अदालत ने तीन सदस्यीय आयोग का गठन किया है जिसकी अगुवाई उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश वी एस सिरपुरकर कर रहे हैं। शीर्ष कोर्ट ने अगले आदेश तक एनकाउंटर मामले में हाईकोर्ट और मानवाधिकार आयोग की कार्यवाही पर भी रोक लगा दी है।  चीफ जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस एस. अब्दुल नजीर और जस्टिस संजीव खन्ना की पीठ ने वकील जीएस मणि व वकील प्रदीप कुमार की संयुक्त याचिका और एडवोकेट एमएल शर्मा यादव की याचिका पर सुनवाई की।

Hyderabad Encounter: गौतम गंभीर ने दिया ऐसा बयान…

 

         – Ranjita pathare 

 

Share.