विधायकों को लेने बेंगलुरु पहुंचे जीतू पटवारी को पुलिस ने बनाया बंधक

0

मध्यप्रदेश की राजनीति में उठापटक लगातार जारी है। कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) के बागी विधायक इस वक़्त बेंगलुरु में हैं। अपने बागी विधायकों को वापस बुलाने और उन्हें मनाने के लिए कमलनाथ सरकार ने अपने कैबिनेट मंत्री जीतू पटवारी को बेंगलुरु (Jitu Patwari Arrested By Police) भेजा। जब जीतू पटवारी विधायकों को मानाने और लेने गए तो उनकी झड़प बेंगलुरु पुलिस से हो गई। विवाद काफी आगे बढ़ गया और बेंगलुरु पुलिस व पटवारी के बीच हाथापाई भी हो गई। इसके बाद पुलिस ने पटवारी को हिरासत में ले लिया। जीतू पटवारी ने पुलिस पर उनके साथ अभद्रता करने का आरोप लगाया। हालांकि कुछ देर बाद उन्हें रिहा भी कर दिया गया। लेकिन पटवारी की गिरफ़्तारी को लेकर प्रदेश में सियासत जरूर गरमा गई है। कांग्रेस ने पटवारी की गिरफ़्तारी को भाजपा से प्रेरित बताया। प्रदेश कांग्रेस का कहना है कि बेंगलुरु में येदियुरप्पा सरकार उनके मंत्री को विधायकों से मिलने से रोक रहे हैं। इसमें भाजपा का हाथ है।

Congress की Alka Lamba ने AAP के गाल पर जड़ा थप्पड़, Video Viral

बता दें  (Jitu Patwari Arrested By Police) कि मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल छाए हुए हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस से इस्तीफ़ा देने के बाद कांग्रेस सरकार खतरे में आ गई है। ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने साथ 22 विधायकों लेकर कांग्रेस पार्टी छोड़कर चले गए हैं। अब ऐसे में कमलनाथ सरकार गिरने की कगार पर आ गई है। इसी वजह से कमलनाथ सरकार ने अपने उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी को अपन बागी विधायकों को मानाने और उनसे बात करने के लिए बेंगलुरु भेजा था। बेंगलुरु के एक रिसॉर्ट में कांग्रेस के 20 विधायक ठहरे हुए हैं। जैसे ही पटवारी रिसोर्ट पहुंचे तो उन्हें स्थानीय पुलिस ने रोक लिया। इसके बाद जीतू पटवारी और और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की हुई। इस धक्का-मुक्की के बाद स्थानीय पुलिस ने उन्हें जबरदस्ती बस में बैठा लिया। हालांकि कुछ देर के बाद पटवारी को रिहा कर दिया गया लेकिन इतनी ही देर में प्रदेश की राजनीति गरमा गई।

Congress Press Conference live video : दिनदहाड़े लोकतंत्र की हत्या

इस मामले में दिग्विजय सिंह (Jitu Patwari Arrested By Police) ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि, दिग्विजय सिंह ने कहा, “कांग्रेस के विधायकों को भारतीय जनता पार्टी ने कर्नाटक पुलिस के द्वारा बंधक बनाया हुआ है। हमारे मंत्रियों जीतू पटवारी और लाखन सिंह के साथ बदतमीजी की जा रही है।” जीतू पटवारी की पुलिस के साथ हुई झड़प और उन्हें जबरन बस में बिठाए जाने के कई वीडियो सोशल मीडिया पर आ चुके हैं। इस पर प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने कड़ी आपत्ति जताई। इस मामले में दिग्विजय सिंह ने पत्रकारों से कहा कि, जीतू पटवारी और लाखन सिंह के साथ पुलिस ने न सिर्फ अभद्रता की बल्कि उन्हें गिरफ्तार तक कर लिया गया। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिग्विजय के साथ ही कांग्रेस नेता विवेक तन्खा, शोभा ओझा और अन्य नेता भी मौजूद रहे। इन नेताओं ने कहा कि अगर हमारे नेताओं को बेंगलुरु पुलिस ने तत्काल रिहा नहीं किया, तो हम अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।

Congress Working Committee Meeting : कांग्रेस को मिला नया अध्यक्ष!

Prabhat Jain

Share.