website counter widget

सावधान : कहीं आप भी तो नहीं कर रहे मांसाहार का सेवन

0

यदि आप ज्यादा मांसाहार (Heavy Red Meat Eat Increased Death Risk ) का सेवन करते हैं, तो अभी ही सतर्क हो जाइए। क्योंकि एक शोध में सामने आया है कि ज्यादा मांस खाने से मौत हो सकती है । यह शोध हार्वर्ड यूनिवर्सिटी (Harvard University) में हुआ है, जहां यह सामने आया है कि मांसाहारी कि तुलना में शाकाहारी लोग ज्यादा जीते हैं । एक चेतावनी जारी करते हुए शोधकर्ताओं (research fellow ) ने कहा है कि जो लोग रेड मीट का ज्यादा सेवन करते हैं, उनकी मृत्यु का खतरा सबसे ज्यादा रहता है।

वजन कम करने में सहायक Rainbow Diet

वहीं, जो लोग रेड मीट की जगह मछली, अंडे, साबूत अनाज और सब्जियां खाते हैं, वो व्यक्ति ज्यादा लंबे वक्त तक जीते हैं। यह शोध बीएमजे जनरल में प्रकाशित हुआ है। इसमें शोधकर्ताओं ने ज्यादा तादाद में रेड मीट खाने और जल्दी मृत्यु होने के बीच का संबंध खोजा है।

 शोधकर्ताओं (Heavy Red Meat Eat Increased Death Risk ) ने इसके लिए 1986 से लेकर 2010 के बीच का डेटा लेकर शोध किया। इस शोध के लिए 53,553 पंजीकृत नर्सों का डेटा लिया गया था। साथ ही आठ सालों तक रेड मीट के सेवन और उसके अगले आठ सालों के बीच मृत्यु दर की स्टडी की और इस नतीजे पर पहुंचे की रेड मीट के सेवन से मृत्यु का खतरा सबसे ज्यादा बढ़ रहा है।

जिन नर्सों का डाटा लिया है,उन सबकी उम्र 30 से 35 साल के बीच थी। साथ ही 40 से 75 साल की उम्र वाले 27,916 पुरुषों का डेटा भी एकत्रित किया गया था, जो स्वास्थ्य प्रोफेशन से जुड़े हुए थे। जिन सभी लोगो का डाटा लिया था, उन्हें कोई भी बड़ी बीमारी नहीं थी, न तो कैंसर की बीमारी और न ही हार्ट से जुड़ी कोई भी बीमारी थी ।

हमारे लिए जानलेवा है हमारा स्मार्टफोन

शोधकर्ताओं (Heavy Red Meat Eat Increased Death Risk ) ने प्रतिभागियों के खान-पान की फ्रीक्वेंसी देखी और साथ ही इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि मछली, अंडा, साबूत अनाज और सब्जियां खाने से जहां इंसान ज्यादा लंबे वक्त तक जीता है, और स्वस्थ रहता है, वहीं रेड मीट खाने से मृत्यु का खतरा ज्यादा रहता है। शोध में रेड मीट खाने से 14,019 लोगों की मौत की पुष्टि हई है , जिनमें 8,426 महिलाएं और 5,593 पुरुष थे।

इसलिए लोगों को मरने-मारने के लिए बाध्य हो जाते हैं आतंकी

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.