राजीव गांधी हत्याकांड पर सुनवाई

0

भारत के छठे प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के आरोप में उम्रकैद की सज़ा काट रही नलिनी को फिर से हाईकोर्ट से मायूसी ही हाथ लगी है| शुक्रवार को नलिनी की याचिका पर सुनवाई करते हुए मद्रास हाईकोर्ट ने उनकी मांगों को ठुकरा दिया है|

बताया जा रहा है कि नलिनी ने अपनी अर्जी में अनुच्छेद 161 (क्षमादान के राज्यपाल के अधिकार से संबंधित) के तहत 1994 की राज्य सरकार की एक योजना के तहत समय से पहले रिहाई के लिए याचिका दायर की थी, लेकिन न्यायमूर्ति केके शशिधरन और न्यायमूर्ति आर सुब्रहमण्यम की खंडपीठ ने याचिका को खारिज कर दिया|

गौरतलब है कि नलिनी ने 22 फरवरी 2014 को राज्य सरकार से समय से पहले रिहाई की मांग की थी| इसके बाद उन्होंने अदालत से गुहार लगाई थी| इस सुनवाई से पहले उच्चतम न्यायालय ने कहा था कि इस तरह के कई मामले न्यायालय में लंबित हैं|

Share.