गौ तस्करों ने बजरंग दल कार्यकर्ता को मारी गोली

0

देश में गौ तस्करी के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। सरकार के लाख प्रयास और सख्त कानून के बाद भी गौ तस्करी धड़ल्ले से चल रही है। गौ तस्करी (Gurugram Gau Rakshak Shot) के नाम पर देश में खून बहाया जा रहा है। ऐसा फिर दिल्ली से हरियाणा के गुरुग्राम में हुआ। जहां गौ तस्करों ने एक गौरक्षक को गोलियों से भून दिया।

एक महिला जो पुरुष को बनाती थी हवस का शिकार

बजरंग दल के कार्यकर्ता की हत्या

हरियाणा के गौ तस्करी के खिलाफ गठित की गई गौ टास्क फोर्स के सदस्य को गोली मारी गई है। वे बजरंग दल के एक कार्यकर्ता हैं, जिनका नाम मोनू मनेसर है (Gurugram Gau Rakshak Shot)। गोली लगने के तुरंत बाद घायल बजरंग दल के कार्यकर्ता को अस्पताल ले जाया गया। जहां उसका अभी भी इलाज चल रहा है। डॉक्टरों ने घायल की हालत गंभीर बताई है।

PMC से सरकार को कोई लेना देना नहीं!

पुलिस ने बताया कि बजरंग दल का कार्यकर्ता मोनू मनेसर गौ तस्करों का पीछा कर रहा था। तस्कर पिक अप वैन में गायों को लेकर जा रहे थे। कुछ देर बाद जब तस्करों को मोनू के बारे में पता चला तो दोनों पक्षों में मुठभेड़ होने लगी। तभी आरोपियों ने गोली चला दी। इसके बाद वे मौके से फरार हो गए (Gurugram Gau Rakshak Shot)। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। इसके बाद पुलिस ने नाकाबंदी कर गौ तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। हरियाणा में गौ रक्षकों के साथ ऐसी घटनाएँ पहले भी हो चुकी है। इसके पहले जुलाई महीने में गौ तस्करों का पीछा कर रहे एक बाइक सवार गौरक्षक की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। गोपाल की हत्या के बाद आरोपी वहाँ से फरार हो गए थे। गोपाल पहले भी कई गायों को तस्करों से मुक्त करवा चुके थे।

सबसे ज्यादा उम्र में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले पहले वैज्ञानिक

          – Ranjita Pathare

 

Share.