सरकार ने दलितों के लिए कुछ नहीं किया

0

एसटी-एससी एक्ट में बदलाव के कारण देश में कई जगह हिंसात्मक प्रदर्शन हुआ, जिसमें कई लोगों की मौत हो गई| अब इसी विवाद के बीच एक भाजपा सांसद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर सरकार पर आरोप लगाया है कि उन्होंने दलितों के लिए कुछ नहीं किया है|

बताया जा रहा है कि उत्तरप्रदेश के नगीना से सांसद डॉ.यशवंत सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी| आरक्षण को जीवनदायिनी हवा बताकर उन्होंने कहा कि भारत के दलित और पिछड़े वर्ग के बिना विकास संभव नहीं है| इस चिट्ठी में दलित नेता ने पीएम मोदी से एससी-एसटी एक्ट में कोर्ट के फैसले के खिलाफ पैरवी करने और दलित समाज के हितों को विशेष ध्यान रखते हुए बिल पास करवाने की मांग भी की है|

उन्होंने आगे कहा कि कोर्ट में इस समाज का कोई प्रतिनिधित्व नहीं है, जिस वजह से कोर्ट हर समय हमारे विरुद्ध नए-नए निर्णय देकर हमारे अधिकारों को खत्म कर रहा है| इस देश की 70 प्रतिशत संपत्ति एक प्रतिशत लोगों के पास है, जो सरकार का संरक्षण प्राप्त करते हैं और 25 प्रतिशत आबादी पर शायद आधा प्रतिशत भी देश की संपत्ति न हो| भाजपा सरकार ने अभी तक दलितों के लिए कुछ नहीं किया है, सरकार को इस ओर ख़ास ध्यान देना चाहिए|

Share.