सावधान! कहीं आप भी तो नहीं खरीदते ऑनलाइन दवाइयाँ ?

0

क्या आप भी ऑनलाइन दवाइयाँ (Online medicines ) खरीदते हैं तो अब सावधान हो जाएगी, क्योंकि अब ऑनलाइन दवाइयों की खरीद पर सरकार रोक लगाने वाली है। ड्रग कंट्रोलर जेनरल ऑफ इंडिया (Drugs Controller General of India, DCGI) ने ऑनलाइन दवाइयां बेचने वाले कई प्लेटफॉर्म को बैन (Government Bans Online Drugs) करने का फैसला किया है। इस आदेश को सरकार ने सभी जगह सर्कुलेट भी करवा दिया है।

बिहार में दिनदहाड़े किए गए कत्ल का खौफनाक Video Viral

जानकारी के अनुसार, ड्रग कंट्रोलर जेनरल ऑफ इंडिया (Drugs Controller General of India, DCGI) ऐसे प्लेटफॉर्म के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है, जिनके पास दवाइयाँ बेचने का लाइसेन्स नहीं है। एक रिपोर्ट के अनुसार कहा जा रहा है कि जब तक नियामक एजेंसी ई-फार्मेसीज को लेकर नियम-कानून का ड्राफ्ट तैयार और जारी नहीं हो जाता (Government Bans Online Drugs)। ई-फार्मेसीज का सरकार के साथ रजिस्ट्रेशन कराया जाना अनिवार्य है। इसके साथ ही ऑनलाइन दवाई बेचने वाली सभी कंपनियों को डॉक्टरों और मरीजों को दी जाने वाली प्रिस्क्रिप्शन्स का रिकॉर्ड रखना भी जरूरी होगा।

अब बिना हेलमेट बाइक चलाने और तीन लोगों के बैठने पर नहीं लगेगा जुर्माना

सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (Central Drugs Standard Control Organisation, CDSCO) के सूत्र के हवाले से कहा है कि ई-फार्मेसीज से जुड़े नियम-कानून पर अभी काम चल रहा है। सारे नियम बन जाने के बाद कई सारी ऑनलाइन दवाई बेचने वाली कंपनियाँ बंद हो जाएगी। DCGI के हेड वी.जी सोमानी ने 28 नवंबर को एक पत्र लिखकर कहा कि दवाइयों की ऑनलाइन बिक्री पर रोक लगना चाहिए क्योंकि ई-फॉर्मेसीज के पास इसके लिए कोई लाइसेंस नहीं होता, जिससे Drugs and Cosmetics (D&C) Act का उल्लंघन होता है। DCGI ने अपने लेटर में 12 दिसंबर, 2018 को आए दिल्ली हाईकोर्ट के एक आदेश के बारे मे बताया था।

पंकजा मुंडे ने छोड़ी बीजेपी? दिया बड़ा बयान

          – Ranjita Pathare 

Share.