यौन शोषित लड़कों को भी दें ‘मुआवजा’

0

महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने लड़कियों के लिए बने कानून की तर्ज पर कुकर्म या यौन शोषण के शिकार लड़कों के लिए भी मुआवजा देने का आज प्रस्ताव रखा। उन्होंने यौन शोषण से पीड़ित लड़कों पर एक अध्ययन की भी घोषणा की। पुरुषों के लिए यह अपनी तरह का खास अध्ययन है। मेनका ने लड़कों से यौन शोषण पर फिल्म निर्माता इंसिया दरीवाला की चेंज ओआरजी पर एक याचिका के जवाब में कहा कि बाल यौन शोषण को सबसे अधिक नजरअंदाज किए जाने वाला वर्ग पीड़ित लड़कों का है।

यह गंभीर समस्या है

मेनका ने कहा कि यह एक गंभीर समस्या है और इससे निपटने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि याचिका के बाद उन्होंने राष्ट्रीय बाल संरक्षण अधिकार आयोग को पीड़ित लड़कों के मुद्दे पर विचार करने के निर्देश दिए हैं। मंत्री ने कहा कि कॉन्फ्रेंस से उठी सिफारिशों के अनुसार, सर्वसम्मति से यह फैसला किया गया है कि बाल यौन शोषण के पीड़ितों के लिए मौजूदा योजना में संशोधन होना चाहिए ताकि कुकर्म या यौन शोषण का सामना करने वाले लड़कों को भी मुआवजा मिले।

मेनका ने कहा कि इस अध्ययन के आधार पर एनसीपीसीआर ने जस्टिस एंड केयर के एड्रियन फिलिप्स के सहयोग से इंसिया को आमंत्रित करने का फैसला लिया है कि वे बाल यौन शोषण के शिकार लड़कों पर व्यापक अध्ययन करें।

Share.