Gangster Neeraj Bawana गैंग के कई सदस्य गिरफ्तार

0

दिल्ली पुलिस को बड़ी कामियाबी हाथ लगी है। पुलिस ने गैंगस्टर नीरज बवाना (Gangster Neeraj Bawana) गिरोह के कई सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। इन सभी की पुलिस को काफी दिनों से तलाश थी। पकड़े गए लोगों के पास से 3 लक्जरी कार समेत भारी मात्रा में गोला-बारूद और हथियार भी जब्त किए गए हैं। नीरज बवाना का नाम उस समय सुर्खियों में आया था जब यह पता चला था कि कभी दाऊद इब्राहीम (Dawood Ibrahim) के करीबी और अब उसके दुश्‍मन बने चुके छोटा राजन को मारने की सुपारी डी-कंपनी (D-Company) ने दिल्‍ली के गैंगस्‍टर नीरज बवाना (Neeraj Bawana Gang 9 Members Arrest ) को दी थी।

कई भारतीय और पाकिस्तान के साथ दिल्ली पहुंची समझौता एक्सप्रेस

तिहाड़ जेल में बंद है बवाना (Neeraj Bawana Gang 9 Members Arrest )

नीरज बवाना दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद है, उस पर और उसके गिरोह के सदस्यों पर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। नीरज बवाना का मामा रामवीर शौकीन एक साल पहले ही जेल से फरार हो गया था। रामवीर शौकीन दिल्ली का विधायक रह चुका है, जिस पर कई मामले दर्ज है। उसके पास से पुलिस ने एक एके-47 और एसएलआर (SLR) रायफल बरामद किया था।

VIDEOS : बारिश के तांडव, एयरपोर्ट बंद, रेस्‍क्‍यू में जुटे हजारों सैनिक

कभी भी हो सकता है खून खराबा

दिल्ली क्राइम ब्रांच को यह सूचना मिली थी कि हरियाणा और दिल्ली में राजेश बवाना व नीरज बवाना गिरोह के सदस्यों (Neeraj Bawana Gang 9 Members Arrest ) के बीच कभी भी हिंसक झड़प हो सकती है। राजेश और नीरज भले ही जेल में बंद हैं, लेकिन उनके लोग एक दूसरे पर हमला करने की फिराक में है। दोनों के अपने-अपने गिरोह हैं। गिरोह में हरियाणा के अलावा यूपी, दिल्ली के पचास से अधिक गुर्गे शामिल हैं। दोनों गिरोह के बीच लगभग तीन साल से दुश्मनी चल रही है।

प्रधानमंत्री मोदी ने दिया राष्ट्र के नाम सन्देश, कहा सभी का सपना पूरा

गिरोह के सदस्य ने किया खुलासा

दिल्ली पुलिस द्वारा पकड़े गए गिरोह के एक सदस्य ने बताया कि एक माह पूर्व ही राजेश बवाना ने जेल में मिलने के लिए पहुंचे गिरोह के गुर्गों से कहा कि नीरज बवाना गिरोह के गुर्गों को जहां भी मिले खत्म कर दो। इसके लिए गुर्गों ने यूपी के मुजफ्फरनगर से हथियार भी खरीदे थे। खुलासा होने के बाद पुलिस में भी हड़कंप मचा हुआ है। वहीं नीरज और राजेश की फेसबुक आईडी भी पुलिस के लिए जांच का विषय बनी हुई है क्योंकि उन दोनों की आईडी हर दूसरे दिन अपडेट हो रही है। अब जांच का विषय यह बना हुआ है कि उनकी आईडी जेल के अंदर से चलाई जाती है या बाहर से।

 

Share.