पूर्व विदेश मंत्री Sushma Swaraj का निधन

0

पूर्व विदेश मंत्री Sushma Swaraj  को अचानक दिल का दौरा पड़ जाने से उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सुषमा स्वराज की हालत बेहद ही नाजुक बनी हुई है। एम्स की तरफ से कुछ देर में बयान जारी किया जाएगा। जैसे ही सुषमा स्वराज को दिल का दौरा पड़ने की खबर मिली वैसे ही कई बड़े नेता एम्स अस्पताल उनसे मिलने पहुंच गए। उनकी हालत बेहद ही नाज़ुक बताई जा रही है। दिल्ली के एम्स अस्पताल में 5 डॉक्टरों की टीम सुषमा स्वराज की निगरानी कर रही है।

Sushma Swaraj का दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। एम्स की तरफ से बयान जारी कर दिया गया है। एम्स ने बताया की भाजपा की बड़ी नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन हो गया है। उनके निधन की खबर से पूरे देश में मातम छा गया है। सुषमा स्वराज की 67 साल की उम्र में आज दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। सुषमा स्वराज देश की सबसे लोकप्रिय नेताओं में शुमार थीं।

Sushma Swaraj के निधन की खबर मिलने के बाद एम्स अस्पताल में नेताओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। नितिन गडकरी, स्वास्थ मंत्री हर्षवर्धन, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई बड़े नेता एम्स अस्पताल में पहुंच चुके हैं। एम्स ने अपने बयान में बताया कि सुषमा स्वराज को कार्डियक अरेस्ट हुआ था जिसके बाद उन्हें अस्पताल में दाखिल किया गया था। सुषमा स्वराज के परिजन भी एम्स में मौजूद थे और उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी। लेकिन बाद में उनके निधन की सूचना एम्स द्वारा दी गई।

सुषमा स्वराज के निधन की खबर सुनकर किसी को भी अपने कानों पर विश्वास नहीं हो रहा है। सभी उनकी मौत की खबर सुनकर स्तब्ध रह गए। सुषमा स्वराज ने 4 घंटे पहले ही ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी को ऐतिहासिक फैसला लेने के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी थी। गौरतलब है कि सुषमा स्वराज का पहले किडनी ट्रांसप्लांट किया जा चुका है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थोड़ी देर में एम्स पहुंचने वाले हैं। बताया जा रहा है कि सुषमा स्वराज को रात 9 बजे दिल्ली के एम्स अस्पताल में लाया गया था। सुषमा स्वराज के निधन की खबर के बाद ट्वीटर पर तमाम लोग शोक व्यक्त कर रहे हैं। सुषमा स्वराज के निधन की खबर मिलते ही प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लिखा, “भारतीय राजनीति का एक शानदार अध्याय समाप्त हो गया। भारत एक उल्लेखनीय नेता के निधन पर शोक व्यक्त करता है, जिन्होंने अपना जीवन सार्वजनिक सेवा और गरीबों के जीवन को समर्पित किया। सुषमा स्वराज जी करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत थीं।”

इसके आगे पीएम मोदी ने लिखा, “मैं उस तरीके को नहीं भूल सकता जिस तरह से सुषमा जी ने पिछले 5 वर्षों में EAM के रूप में अथक परिश्रम किया। यहां तक कि जब उसका स्वास्थ्य ठीक नहीं था, तब भी वह अपने काम के साथ न्याय करने के लिए हर संभव कोशिश करती थी और अपने मंत्रालय के मामलों के साथ बनी रहती थी। उनकी भावना और प्रतिबद्धता अद्वितीय थी।”

Share.