भ्रष्टाचार के मामले में पूर्व वित्त मंत्री पर कानून का शिकंजा

0

कांग्रेस के नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम (P Chidambaram) को दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) से तगड़ा झटका लगा है। दरअसल कांग्रेस नेता चिदंबरम (P Chidambaram) को दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) से अग्रिम जमानत नहीं मिल सकी है। चिदंबरम के खिलाफ भ्रष्टाचार मामले में सीबीआई और ईडी (CBI And ED) द्वारा दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में मामला दाखिल किया गया था। सीबीआई और ईडी (CBI And ED) द्वारा दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में दाखिल किए दोनों मामलों में पी. चिदंबरम (P Chidambaram) को जमानत नहीं दी गई है। अब चिदंबरम (P Chidambaram) सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में जमानत के लिए याचिका करेंगे।

Video : शख्स पर गिरी बिजली और फिर…

गौरतलब है कि पी. चिदंबरम (P Chidambaram) के वकील कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने CJI के समक्ष मामले को मेंशन करने का प्रयास किया था लेकिन तब तक कोर्ट उठ चुकी थी। इसके बाद सिब्बल (Kapil Sibal) जॉइंट रजिस्टार के पास मामले को सूचीबद्ध करने पहुंचे। यह पूरा मामला साल 2017 का है जब पी. चिदंबरम (P Chidambaram) तब की यूपीए सरकार में वित्त मंत्री थे। उस दौरान आईएनएक्स मीडिया (INX Media) को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (FIPB) की मंजूरी दिलाने और  305 करोड़ रुपए की विदेशी धनराशि प्राप्त करने के लिए कथित अनियमितता बरते जाने का आरोप चिदंबरम पर लगाया गया है।

देवास स्थित गौशाला बनी गायों की मौत शाला

इसी मामले में पी. चिदंबरम (P Chidambaram) के बेटे कार्ती चिदंबरम को कथित रूप से 10 लाख रुपए हासिल करने के लिए गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में आईएनएक्स मीडिया (INX Media) कंपनी के तत्कालीन निदेशक इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी को भी आरोपी बनाया गया है। इस मामले में CBI द्वारा साल 2017 में 15 मई को मामला दर्ज किया गया था। अब इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) से पी. चिदंबरम (P Chidambaram) को जमानत न मिलने पर उनके ऊपर गिरफ़्तार की तलवार लटक रही है।

ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस में छाया अंधेरा, शिवराज ने कसा तंज

Share.