चिदंबरम से पूछताछ के लिए ये हैं CBI के सवाल!

0

पूर्व गृहमंत्री, वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (Congress leader P. Chidambaram) सीबीआई (CBI) की गिरफ्त में हैं। आईएनएक्स मीडिया केस (P Chidambaram arrested in INX media case)  में आखिर सीबीआई ने उन्हें पकड़ ही लिया, लेकिन इसके लिए उन्हें सीबीआई को कई पापड़ बेलने पड़े। आज पी चिदंबरम (CBI Interrogated Question For P Chidambaram) को सीबीआई स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा।

उन्हें रात भर सीबीआई मुख्‍यालय में रखा गया, जहां उन्होंने सीबीआई अधिकारी के कमरे में रात गुजारी। आईएनएक्स मीडिया से जुड़े भ्रष्टाचार और धनशोधन के मामलों में आरोपी चिदंबरम (P Chidambaram) को दोपहर 2 बजे स्पेशल सीबीआई जज अजय कुमार कुहार की कोर्ट (राउज एवेन्यू) में पेश किया जाएगा। जब से उन्हें गिरफ्तार किया गया है तब से भी उनसे सवाल पुछे (CBI Interrogated Question For P Chidambaram) जा रहे हैं, लेकिन उनसे पुछने के लिए सीबीआई ने खास 100 सवाल तैयार किए हैं।

मंदिर में तोड़फोड़, भीम आर्मी चीफ समेत 80 गिरफ्तार

पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं चिदंबरम

जानकारी के अनुसार, पहले भी और अभी भी सीबीआई का यही कहना है कि चिदंबरम पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं और सवालों के गोलमोल जवाब देते रहे हैं। अभी जब उनसे सवाल पुछे जा रहे हैं तो वे ऐसे जवाब दे रहे हैं जैसे वे अभी भी पूर्व मंत्री नहीं, मंत्री ही हैं। वे सवालों के बाद जवाब नहीं दे रहे बल्कि खुद नया सवाल पूछ रहे हैं। जांच अधिकारी उन्हें समझा रहे हैं कि आप गिरफ्तार है आपके मौलिक अधिकार आपके पास नहीं हैं। सीबीआई ने चिदंबरम द्वारा पहले दिए गए जवाबों को काउंटर करने के लिए कई सारे डॉक्यूमेंट्री एविडेंस जुटाए हुए है।

अनुच्‍छेद 370 के मुद्दे से ध्‍यान भटकाने के लिए गिरफ्तारी (CBI Interrogated Question For P Chidambaram)

Breaking News : पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम गिरफ्तार

चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम का कहना है कि उनके पिता कि गिरफ्तारी अनुच्‍छेद 370 के मुद्दे से ध्‍यान भटकाने के इरादे से की गई है। उनके पिता को जिस नाटकीय ढंग से गिरफ्तार किया गया, वह सिर्फ राजनीतिक बदले की भावना से प्रेरित है।

 चिदंबरम ने फिर तोड़ा कानून

पूर्व वित्त मंत्री और गृह मंत्री रह चुके चिदंबरम अभी भी इस बात से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं कि वे अब मंत्री नहीं है, लेकिन अभी भी मंत्रियों जैसे ही पेश आ रहे हैं। वे पेशे एक वकील भी हैं, इसके बावजूद उन्होने कई कानून तोड़े। गिरफ्तारी वारंट आने के बाद भी फरार हो गए। उन्हें शायद यह लगा होगा कि सुप्रीम कोर्ट से उन्हें जमानत मिल जाएगी, लेकिन जब शीर्ष न्यायालय ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी तो उन्हें मजबूरन सामने आना पड़ा, क्योंकि उन्हें अपनी साख गिरती हुई दिख रही थी। अब सीबीआई के पास कई मुख्य बिन्दु है, जिससे वे चिदंबरम की रिमांड बढ़ाने के लिए अपील कर सकते हैं।

Syed Akbaruddin : पाकिस्तान तुझे जहां जाना है जा, वहीं जवाब देंगे…

Share.