राजधानी में लगी आग, यात्रियों में मची भगदड़

0

आए दिन देश में रेल दुर्घटनाएं घटित होती रहती हैं,जिनमें जान-माल का काफी नुकसान होता है। बुधवार रात को ही एक ऐसी ही घटना सामने आई है| दरअसल, राजधानी एक्सप्रेस (Rajdhani Express Caught Fire ) सिकंदराबाद से निजामुद्दीन जा रही थीं और अचानक आग की चपेट में आ गई, लेकिन समय पर रेल प्रशासन ने कार्रवाई कर आग पर काबू पा लिया ।

AN-32 विमान हादसे में नहीं मिला कोई ज़िंदा

गौरतलब है कि अचानक आग लगने से यात्रियों में हड़कंप मच गया, जिससे यात्री ट्रेन से भागकर प्लेटफॉर्म पर आ गए। इस ट्रेन को नरखेड़ रेलवे स्टेशन पर रोककर आग बुझा दी गई , जिससे बड़ा हादसा होने से बच गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सिकंदराबाद-निजामुद्दीन राजधानी एक्सप्रेस नागपुर से होकर बुधवार रात करीब 10 बजे जब नरखेड़-दारीमेटा से गुज़र रही थी वहीं अचानक बोगी में आग (Rajdhani Express Caught Fire ) लग गई| इस पर गार्ड ने फौरन वॉकी-टॉकी पर लोको पायलट को सूचित किया, उसके तुरंत बाद  लोको पायलट ने   ट्रेन रोक दी ।

जब  वरिष्ठों को इस बात की जानकारी मिली तो कुछ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे तो कुछ ने मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय स्थित कंट्रोल रूम में कमान संभाल ली। सुरक्षा बल के अधिकारियों ने भी मौके पर पहुंचकर स्थिति को काबू में कर लिया और एक बड़ा हादसा होने से रोक लिया।

रिपोर्ट लिखने के लिए पुलिसवाले ने रिश्वत में मांगी औरत की अस्मत

इस घटना (Rajdhani Express Caught Fire ) के बाद  कई ट्रेनों को रोका गया, जिससे यात्रियों को परेशानी झेलना पड़ी| साथ ही कई ट्रेनों को  घटना के बाद  अलग-अलग स्टेशन पर रोका गया, जहां  जबलपुर एक्सप्रेस को काटोल और केरला एक्सप्रेस को नरखेड़ में रोका गया ताकि स्थिति संभाली जा सके | ट्रेन में यह हादसा नरखेड़ से दारीमेट स्टेशन के बीच हुआ था। वही घटना के समय  पीछे  से आ  रही केरला एक्सप्रेस को वापस पिछले स्टेशन पर भेज दिया गया था।

ट्रेन लगभग डेढ़ घंटे की देरी के साथ अगले सफ़र के लिए रवाना हो सकी। गनीमत है कि इस घटना पर समय रहते काबू पा लिया गया वरना बड़ा हादसा हो सकता था। अभी हादसे का कारण  सामने नहीं आया है।

ऐसे कई मामले पहले भी सामने आ चुके हैं, जिनमें दुर्घटना होने से बची है| पिछले माह 11 मई को  भी दिल्ली-भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस में  अचानक आग लग गई थी, आग लगने की यह घटना दोपहर के करीब 1 बजे ओडिशा के बालासोर और सोरो रेलवे स्टेशनों के बीच हुई थी हालांकि उस समय सभी यात्री सुरक्षित बच गए थे।

Anantnag Terror Attack : मध्यप्रदेश के कॉन्सटेबल संदीप यादव शहीद

Share.