website counter widget

आर्थिक मंदी को लेकर वित्त मंत्री का बड़ा बयान!

0

आर्थिक मंदी को लेकर केन्द्र सरकार को चारो तरफ से आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। मोदी सरकार आज आर्थिक मंदी को सुधारने के लिए बड़े फैसले कर सकती है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज दोपहर 2 बजे राष्ट्रीय मीडिया से प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी जिसमे कई बड़े ऐलान किये जा सकते है (Nirmala Sitharaman Today Meeting)। जिसमे लगातार गिरती अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए वित्त मंत्री  द्वारा ऑटोमोबाइल, एनबीएफसी, बैंकिंग, रियल एस्टेट तथा अन्य सेक्टर्स को लेकर कई अहम् फ़ैसले हो सकते है।

योगी के आदेश पर 40 साल पुराना कानून बदला

अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए वित्त मंत्री ने पिछले दिनों कई ऐलान किए थे। इनमें निर्यात क्षेत्र के लिए 30 दिनों में जीएसटी रिफंड, ऑटो इंडस्ट्री को राहत, बैंकों में 70 हजार करोड़ रुपये की पूंजी डालने सहित कई घोषणाएं की थीं (Nirmala Sitharaman Today Meeting)। शेयर बाजार को बिकवाली के दौर से निकालने के लिए वित्त मंत्री ने फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (एफपीआई) तथा घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) पर बढ़े सरचार्ज को वापस लेने का ऐलान किया था।

Hindi Diwas 2019 Special : क्या आप कर सकते हैं हिन्दी के इन शब्दों का सही उच्चारण

अर्थव्यवस्था में मंदी को लेकर विपक्ष सरकार लगातार हमला करती रहती है. जिसमे अभी हाल ही में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि केंद्र सरकार ने जिस तरह से नोटबंदी की और जीएसटी जैसी नीतियों को लाने का काम किया है उसके कारण ही अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई है. उन्होंने कहा कि सरकार यह तक स्वीकार करने को तैयार नहीं है कि देश की अर्थव्यवस्था संकट में घिर गई है. पूर्व प्रधानमंत्री ने सरकार से कहा है कि वह अखबारों की सुर्खियों से बाहर निकलकर आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए जरूरी कदम उठाए. वित्त मंत्री ने सरकारी बैंको के विलय की भी बात की है,जानकरी के अनुसार इस विलय प्रक्रिया के बाद देश में केवल 12 सरकारी बैंक बचेंगे, जबकि अब तक इनकी संख्या 27 थी.

साध्वी प्रज्ञा सिंह के लिए बीजेपी ने लिया बड़ा फैसला

-mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.