Hyderabad gangrape: प्रियंका के पिता ने कहा ‘मेरी बच्ची की आत्मा को अब शांति मिलेगी’

0

हैदराबाद में पशु चिकित्सक (Hyderabad gangrape) के साथ सामूहिक दुष्कर्म और फिर उसकी निर्मम हत्या के चार आरोपियों को शुक्रवार सुबह पुलिस ने मुठभेड़ में ढेर कर दिया है। इसे लेकर पीड़िता के पिता ने सरकार और पुलिस को बधाई दी है। उनका कहना है कि अब बेटी की आत्मा को शांति मिल जाएगी। हैदराबाद की घटना को लेकर पूरे देश में आक्रोश था। सभा आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी पर लटकाने की मांग कर रहे थे।

पुलिस ऑफिसर जिसने किया हैवानों का एनकाउंटर हर कोई कर रहा वाहवाही

पिता ने पुलिस मुठभेड़ में मारे गए चारों आरोपियों पर पशु चिकित्सक के पिता ने पुलिस मुठभेड़ में मारे गए चारों आरोपियों पर कहा ‘मेरी बेटी की मौत को दस दिन हो चुके हैं। मैं इसके लिए पुलिस और सरकार के प्रति आभार व्यक्त करता हूं। अब मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी।’ इससे पहले पीड़िता के पिता ने भी मंगलवार को कहा था, “दोषियों को जितना जल्दी संभव हो, उतनी जल्दी सजा देनी चाहिए। कई कानून बनाए गए लेकिन उनका पालन नहीं हो रहा है। निर्भया केस को ही देख लीजिए। दोषियों को फाँसी पर लटकाना चाहिए।”

Hyderabad Police Rapist Encounter Video : सीन रिक्रिएट, हमला और एंकाउंटर का जानिए पूरा घटनाक्रम

एनकाउंटर पर पुलिस का कहना है कि साइबराबाद पुलिस आरोपियों (Cyberabad police)को क्राइम स्पॉट पर री-कन्स्ट्रक्शन के लिए गई थी। आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीन लिए और उन पर फायरिंग कर दी। पुलिस ने आत्मरक्षा में आरोपियों पर फायरिंग की जिसमें आरोपियों की मौत हो गई। एनकाउंटर पर निर्भया की मां ने कहा, “हैदराबाद पुलिस का धन्यवाद। इससे बढ़िया इंसाफ कुछ हो नहीं सकता था। अब जल्द से जल्द निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा दी जाए। सजा में देरी होने से कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं।”

हैदराबाद गैंगरेप के चारों दरिंदों को पुलिस ने एनकाउंटर में किया ढेर

निर्भया कांड की याद दिलाने वाले इस रेप-हत्याकांड के आरोपियों को फांसी पर लटकाने की मांग की जा रही थी। पीड़िता के परिजन तो मौत की सजा की मांग कर ही रहे थे, एक आरोपी केशवुलू की मां ने भी कहा था कि जैसा आरोपियों ने पीड़िता के साथ किया, उन्हें भी वैसे ही जला दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा था, ‘मेरी भी एक बेटी है। मुझे पीड़िता के परिवार का दर्द पता है।’

-Mradul tripathi

Share.