शिवसेना के बिना ही फड़नवीस के सिर पर महाराष्ट्र का ताज!

0

हिन्दुत्व की राह पर चलने बवाली भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party ) और शिवसेना (Shiv Sena ) का महाराष्ट्र (Maharashtra ) में सत्ता का खेल चल रहा है। सत्ता के इस दंगल में भाजपा का पलड़ा भारी होते जा रहा है। कई निर्दलीय दल बीजेपी को समर्थन दे चुके हैं, वहीं कई लोग अभी भी समर्थन दे रहे हैं। इसके बाद अब कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र में फिर से मुख्यमंत्री के पद के लिए  देवेंद्र फड़नवीस (Devendra Fadnavis ) को चुना जाएगा और जल्द ही उनके शपथ ग्रहण समारोह की तारीख का ऐलान भी किया जाएगा।

महाराष्ट्र में भाजपा सरकार

महराष्ट्र की राजनीति में छिड़े दंगल के बीच भाजपा को सरकार बनाने में निर्दलीय दलों का समर्थन मिलता जा रहा है। बुधवार को चंद्रपुर से निर्दलीय विधायक किशोर जोर्गेवार (Independent MLA Kishore Jorgewar from Chandrapur ) ने फड़नवीस से मिलकर बीजेपी को समर्थन देने की घोषणा की है। इसके पहले जन सुराज्य पार्टी (Jan Surajya Party ) के नेता विनय कोरे ने बीजेपी को अपना समर्थन दिया था। विनय कोरे ने समर्थन देने के साथ ही यह दावा किया है कि महाराष्ट्र में भाजपा सरकार ही बनेगी।

नवंबर के पहले सप्ताह में शपथ ग्रहण समारोह

पार्टी से जुड़े कुछ लोगों का कहना है कि देवेंद्र फड़नवीस नवंबर के पहले सप्ताह में शपथ ले सकते हैं। शिवसेना अभी भी भाजपा के सामने 50-50 वाले फॉर्मूले को लेकर जिद पर अड़ी हुई है। शिवसेना की  जिद पर सीएम फड़नवीस ने कहा था कि चाहे कुछ भी हो जाये, लेकिन महाराष्ट्र में केवल भाजपा का ही सीएम बनेगा। भाजपा सांसद संजय ककाड़े ने मंगलवार को कहा था कि शिवसेना के 56 में से 45 विधायकों ने भाजपा के साथ हाथ मिला कर सरकार बनाने की अपनी इच्छा जाहिर की है। वे हमें फोन कर कह रहे हैं कि उन्हें सरकार में शामिल कर लें। शिवसेना के विधायक कह रहे हैं कि चाहे जो भी किया जाए, लेकिन हम भाजपा के साथ सरकार का हिस्सा बनना चाहते हैं।

     – Ranjita Pathare 

 

Share.