INX मीडिया मामले में चिदंबरम के खिलाफ मिले सबूत!

0

INX मीडिया मामले (INX Media Case) में फंसे पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से लगातार सीबीआई के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। वहीं इस मामले में अब बड़ा खुलासा हुआ है। पूछताछ मे चिदंबरम ने नौकरशाहों पर अपने किए का ठीकरा फोड़ दिया है। आज यानि शनिवार को सीबीआई ने फिर से पूछताछ शुरू कर दी है। वहीं अब कार्ति चिदंबरम पर गिरफ्तारी की तलवार लटक चुकी है। ऐसा कहा जा रहा है कि उनके खिलाफ ऐसे सबूत मिले हैं, जिससे भ्रष्टाचार का खुलासा हो रहा है। ये INX मीडिया में 300 करोड़ के विदेशी निवेश का मामला था जब पी चिदंबरम केंद्रीय वित्त मंत्री थे।

पतंजलि CEO आचार्य बालकृष्ण AIIMS में भर्ती

बाप के बाद बेटे की बारी ?

प्रवर्तन निदेशालय ने अनुसार कार्ति चिदंबरम पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया है। कहा जा रहा है कि इसके सबूत भी सीबीआई को मिल चुके हैं। अजय किशोर शर्मा ने इससे संबन्धित कई दावे किए हैं। सितंबर 2017 में प्रवर्तन निदेशालय ने कार्ति चिदंबरम की दिल्ली और चेन्नई में कई संपत्तियां ज़ब्त की थी। यह भी कहा जा रहा है कि 2जी घोटाले से जुड़े एयरसेल मैक्सिस केस में एफ़आईपीबी अप्रूवल पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के दौर में दिया गया था।

5 देशों में हो रही छानबिन

वित्त मंत्री ने किए बड़े ऐलान, जनता को मिलेगी बड़ी राहत

इस मामले में सीबीआई पाँच देशों में पुछताछ कर रही है। आईएनएक्स मीडिया प्रकरण में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान आदेश लिखाए जाने के बाद सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने उच्चतम न्यायालय को सीलबंद लिफाफे मे कुछ दस्तावेज सौंपने का प्रयास किया। मगर पीठ ने दस्तावेज को स्वीकार करने से इनकार कर दिया। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सीबीआई की प्राथमिकी के आधार पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया।

पूरा चिदंबरम परिवार भ्रटाचार का आरोपी

लोगों का कहना है कि पूरा चिदंबरम परिवार भ्रष्टाचार का आरोपी है। कार्ति पर यह भी आरोप है कि उन्होंने इंद्राणी की कंपनी के खिलाफ कर का एक मामला खत्म कराने के लिए अपने पिता के पद का इस्तेमाल किया और कई घोटाले किए। आइएनएक्स मामले में दर्ज प्राथमिकी में पी चिदंबरम का नाम नहीं था।उन्होंने 18 मई 2007 की एफआइपीबी की बैठक में आइएनएक्स मीडिया में विदेशी निवेश को मंजूरी दी थी।

सावरकर का सम्मान न करने वालों को सरेआम मारो : ठाकरे

Share.