Electoral Bond : कालेधन से चलती है भ्रष्ट कांग्रेस!

0

इलेक्टोरल बॉन्ड विवाद (Electoral Bond Dispute ) आजकल बहस का मुद्दा बना हुआ है। सदन की कार्रवाई से लेकर नेताओं की जुबान पर भी बस यही छाया हुआ है। जो नेता पहले इसका विरोध करते थे, वे अब इसका गुणगान कर रहे हैं और गुणगान करने वाले नेता लाइन के दूसरी ओर जाकर आलोचना कर रहे हैं ।  2017 में जब पहली बार वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इलेक्टोरल बॉन्ड का प्रस्ताव संसद के सामने रखा उस वक्त रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने चेतावनी दी थी कि इस तरह के बॉन्ड का दुरुपयोग मनी लाउंड्रिंग के लिए हो सकता है, लेकिन अब इसे लागू करवा दिया गया है।

इमरान खान ने ट्रंप को किया फोन फिर अलापा कश्मीर राग

कालेधन से चलती है भ्रष्ट कांग्रेस

इलेक्टोरल बॉन्ड (Electoral Bond) पर कांग्रेस समेत विरोधी दल के कई नेता विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, जिन्हें अब बीजेपी ने करारा जवाब दिया है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Union Minister Piyush Goyal Target Congress) का कहना है कि हम इलेक्टोरल बॉन्ड इसलिए लाए ताकि चुनावी राजनीति में ईमानदार पैसे का इस्तेमाल हो। जो लोग इलेक्टोरल बॉन्ड के खिलाफ विरोध कर रहे हैं, वे काले धन को बढ़ाना चाहते हैं और चुनाव के दौरान इसका उपयोग करना चाहते हैं।  जब हम विपक्ष में थे, उस समय जो हमें चैक से चंदा देता कांग्रेस उसे तंग करती थी।

महाराष्ट्र में कांग्रेस संग शिवसेना की सरकार!

पीयूष गोयल ने आगे कहा कि हारे हुए और खारिज कर दिए गए नेताओं का एक समूह नहीं चाहता कि देश की चुनावी राजनीति में साफ सुथरा पैसा आए। विपक्ष द्वारा जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वह आधारहीन हैं। मोदी सरकार पहली सरकार है, जिसने भ्रष्टाचार के खिलाफ कई कदम उठाए हैं। मोदी सरकार ने चुनाव आयोग की सिफारिश पर 2000 से ज्यादा कैश डोनेशन पर रोक लगा दी।  चुनाव आयोग ने करोड़ों रुपए कांग्रेस के नेताओं से जब्त किए हैं। वह भ्रष्ट हैं और कालेधन का उपयोग चुनाव में करना चाहते हैं। इसके साथ ही उन्होने दावा किया कि बीजेपी अकेली पार्टी है, जो कालेधन के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है। आज विश्व की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा है और हमारी पार्टी ने शुरुआत से ये उसूल रखा कि हम पैसा या तो चेक से लेंगे या पहले 20 हजार और अब 2 हजार वो कैश में लेंगे। भाजपा एकमात्र पार्टी है जिसमें पैसा पार्टी में आता है और ईमानदार पैसा आता है।

टोल प्लाजा पर रुकना जरूरी नहीं – नितिन गडकरी

         – Ranjita Pathare 

Share.