बारिश की कमी के कारण होगा जलसंकट

0

भारत के कई इलाकों में जून महीने में बारिश कम होने के कारण सूखे की चिंता बढ़ती जा रही है। मानसून की कमजोर गति के कारण खाद्यान्न उत्पादन के लिहाज से महत्वपूर्ण पंजाब और हरियाणा सहित देश के 24 राज्यों में जून में कम बारिश (24 States Received Deficient Rainfall In June 2019) दर्ज हुई, जिस कारण देश के करीबन 250 जिलों में जलसंकट की आशंका बनी हुई है। यदि जुलाई माह तक इन जिलों में सही बारिश नहीं हुई तो सभी जिलों में जलसंकट की स्थिति बन सकती है साथ ही खद्यान्न उत्पादन में भी कमी आ जाएंगी। जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने एक समारोह में कहा कि अभी तक कम बारिश हुई है, अब हम बेहतर बारिश की उम्मीद करते हैं।

राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को फिर किया गिरफ़्तार

फ़िलहाल सभी की उम्मीदें बस इंद्रदेवता (24 States Received Deficient Rainfall In June 2019) पर ही टिकी हुई है। वहीं हर साल मौसम की सूचना देने वाली निजी कंपनी स्काईमेट ने इस साल औसतन कम मानसून का अनुमान जताया है| साथ ही स्काईमेट के निदेशक का कहना है कि जुलाई और अगस्त में मानसून की गति धीमी रहेगी। हालांकि उनका यह भी कहना है कि इसका असर कृषि क्षेत्र पर नहीं पड़ेगा।

रिपोर्ट्स में सामने आया कि जून में बारिश 33 प्रतिशत कम (24 States Received Deficient Rainfall In June 2019) हुई। वहीं पंजाब में 2014 के बाद पहली बार सूखे जैसे हालात हैं। इस बार उत्तर भारत में करीब-करीब हर जगह मानसून अपने तय समय पर नहीं पहुंच पाया है। इसके कारण ही ऐसे हालात बन रहे हैं| साथ ही अनुमान लगाया जा रहा है कि यदि जुलाई तक सही बारिश नहीं हुई तो देश में सूखे जैसे हालात हो जाएंगे  और कई प्रकार की दिक्कत का सामना भी करना पड़ेगा। वहीं उत्तरप्रदेश, हरियाणा और दिल्ली में बारिश 60-99 प्रतिशत औसत से कम रही है। इस बीच जल शक्ति मंत्रालय ने सोमवार को एक अभियान शुरू किया, जो 30 नवंबर तक चलेगा। इससे जल की कमी झेल रहे देश के 256 जिलों के 1592 क्षेत्रों में जल संरक्षण को गति मिलेगी।

गुरमीत राम रहीम नहीं आएगा जेल से बाहर

इस जल संरक्षण अभियान के हिसाब से वर्षाजल संचय, जलाशयों को पुनर्जीवित करना, भूजल बढ़ाना और पेड़ लगाने के साथ अन्य मुद्दों पर लोगों को जागरूक किया जाएगा। साथ ही उन्हें इस अभियान से जुड़ने के लिए प्रेरित किया जाएगा। महाराष्ट्र के विदर्भ, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड और तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान के कुछ हिस्सों में जलसंकट बहुत बड़ा मुद्दा है।

एयर इंडिया नहीं दे पा रही है सैलरी

Share.