गणतंत्र दिवस से पहले DRDO का तोहफा

0

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने गुरुवार 24 जनवरी को, लॉन्ग रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल (जमीन से हवा में मारने वाली मिसाइल) का सफल परीक्षण किया। गणतंत्र दिवस के पहले DRDO ने ओडिशा के तट से नौसेना के युद्धपोत INS चेन्नई से इस मिसाइल का सफल परीक्षण कर लिया है। इस मिसाइल के सफल परीक्षण के साथ ही भारत ने एक और महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल कर ली। इस मिसाइल का निर्माण भारत और इजरायल में रक्षा ठेकेदारों के सहयोग से सयुंक्त रूप से किया गया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 8 एलआरएसएएम नाम की इस मिसाइल की रक्षा प्रणाली को, भारत और इजरायल में राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम सहित बनाया गया है। अपने परीक्षण में इस मिसाइल ने एक कम रेंज वाले हवा में टारगेट को सफलतापू्र्वक निशाना बनाया। DRDO ने इस मिसाइल को देश के नाम समर्पित किया है। DRDO के द्वारा किए गए इस सफल परीक्षण के बाद चीन और पाकिस्तान में खलबली मच गई है।

भारत और इजरायल ने मिलकर, मई 2010 में इस मिसाइल प्रणाली की पहली सफल परीक्षण फायरिंग के साथ शुरुआत की थी। लॉन्ग रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इंडियन नेवी और डीआरडीओ इंडिया को ट्वीट के माध्यम से बधाई दी। अब भारत की रक्षा प्रणाली में एक और मिसाइल शामिल हो गई है। गणतंत्र दिवस के मौके पर इस मिसाइल का प्रदर्शन भी किया जा सकता है। एक अधिकारी ने जानकारी दी कि, इजराइल की मदद से विकसित, राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम से लेस इस मिसाइल का, युद्धपोत INS चेन्नई से सफल परीक्षण किया गया है। यह मिसाइल भारतीय रक्षा प्रणाली को और भी मजबूत बनाने में काफी कारगर सिद्ध होगी। (प्रभात)

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News
Share.